DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खाद्य वस्तुओं की महंगाई 14.55 प्रतिशत पर पहुंची

खाद्य वस्तुओं की महंगाई 14.55 प्रतिशत पर पहुंची

दालों मसालों और मांस के दाम में लगातार वृद्धि का रुख बने रहने से खाद्य वस्तुओं की महंगाई दर गत सात नवंबर को समाप्त सप्ताह में 14.55 प्रतिशत पर पहुंच गई।

वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय के गुरुवार को जारी आंकडों के मुताबिक पिछले हफ्ते के मुकाबले उड़द दाल की कीमतों में नौ प्रतिशत मांस और मूंग की दालों में चार-चार प्रतिशत की बढो़त्तरी हुई है जबकि मसालों, जौं, अनाज और बाजरे के दामों में प्रत्येक मे तीन-तीन प्रतिशत की बढो़त्तरी हुई है। इसके अलावा दूध चना मछली और अंडे की कीमतें भी एक-एक प्रतिशत बढी़ हैं। हांलाकि जुआर कुक्कुट उत्पादों फलों सब्जियों और चिकन की कीमतों में एक-एक प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है।

प्राथमिक वस्तुओं की वार्षिक मुद्रास्फीति दर सात नवंबर को समाप्त सप्ताह में 9.94 प्रतिशत रही जबकि उससे पहले सप्ताह यह दर 9.16 प्रतिशत थी और पिछले वर्ष की इसी अवधि में यह दर 12.28 प्रतिशत थी।

गैर खाद्यान्न प्राथमिक वर्ग में कच्चे जूट के दामों में सात प्रतिशत, चारें के दामों में पांच, कच्ची कपास के दामों में तीन, अरंडी के बीज में दो और गोला के दामों में एक प्रतिशत की बढो़त्तरी हुई है। लेकिन सोयाबीन और कच्ची रबड़ के दामों में एक प्रतिशत की कमी आई है।

इंधन बिजली उर्जा और लुब्रीकेंटस के सूचकांक में एविएशन टरबाइन फ्यूल के ऊंचे दामों के कारण 11 प्रतिशत और फर्नेस आयल के दामों में एक प्रतिशत की बढो़त्तरी हुई है।

सरकार ने सकल उपभोक्ता वस्तुओं के थोक मूल्य सूचकांक (डब्ल्यूपीआई) पर आधारित महंगाई का आंकडा़ अब महीने में केवल एक बार जारी करने का फैसला किया है। अब हर सप्ताह केवल दैनिक उपभोग की प्राथमिक वस्तुओं और ईंधन, बिजली, लुब्रीकेंट्स समूह के सूचकांक ही जारी किए जाते है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:खाद्य वस्तुओं की महंगाई 14.55 प्रतिशत पर पहुंची