DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सपा के बाबरी राग पर बिफरे आजम

समाजवादी पार्टी की ओर से बाबरी मस्जिद दोबारा बनवाने की मांग का मुद्दा उछालने पर कांग्रेस व भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के अलावा पार्टी से निकाले जा चुके नेता मोहम्मद आजम खां ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है।

रामपुर से जारी बयान में आजम ने कहा है कि यह हिन्दुओं व मुसलमानों को बेवकूफ बनाने की मुलायम सिंह यादव और कल्याण सिंह की नई चाल है। कल्याण अब राम मन्दिर की बात कर रहे हैं, जबकि सपा बाबरी मस्जिद की बात। यह मन्दिर और मस्जिद के नाम पर हिन्दु और मुसलमानों के बीच जहर फैलाने की साजिश है। जबकि बाबरी मस्जिद का मुकदमा हाईकोर्ट में है।

खां ने कहा कि दोनों की नूराकुश्ती फिरकापरस्तों में जान फूंकने की कोशिश है। इन हरकतों से मुलायम सिंह यादव हिन्दु और मुसलमान दोनों की विश्वसनीयता खो चुके हैं। वे कल्याण सिंह से नेता तोड़ने का ऐलान कर समझ रहे हैं कि मुसलमान इतने जाहिल और नासमझ हैं कि उनकी बातों में आकर फिर से आबरू गंवाने को तैयार हो जाएंगे। खां ने सपा द्वारा कल्याण सिंह का इस्तेमाल कर छोड़ लेने पर टिप्पणी करते हुए कहा है कि वहाँ रिश्तों, इंसानी उसूलों की कोई कद्र ही नहीं। पार्टी मुखिया के लिए यह नई बात नहीं। बलराम यादव, सत्यापाल यादव, मित्रसेन यादव, राज बब्बर, बेनी वर्मा, धनीराम वर्मा, सलीम शेरवानी और मुझे भी इस्तेमाल करके ही फेंका गया।

इधर प्रदेश कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग के चेयरमैन मारूफ खान ने कहा है कि बाबरी मस्जिद को फिर मुद्दा बना कर मुसलमानों को बरगलाने व सांप्रदायिक शक्तियों को मजबूत करने की सपा की कोशिश के बहकावे में मुसलमान नहीं आने वाले। एक तरफ जहाँ कांग्रेस विकास को मुद्दा बना रही है, वहीं सपा और कल्याण सिंह धार्मिक भावनाओं को भड़का रहे हैं। इधर भाकपा के राज्य सचिव गिरीश व वरिष्ठ नेता अशोक मिश्र ने कहा है कि कल्याण सिंह और मुलायम सिंह यादव के बयान देश को सांप्रदायिकता की आग में झोंकने का मिला-जुला प्रयास है। इसलिए तयशुदा एजेंडे के मुताबिक अलग-अलग मंच से राम मन्दिर और बाबरी मस्जिद की बात उछाल रहे हैं। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सपा के बाबरी राग पर बिफरे आजम