DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सिपाही की मौत पर खड़े हुए सवाल

रहस्यमय हालात में हुई कांस्टेबल की मौत पर कितने ही सवाल उठ रहे हैं। पुलिस की अगर खुदकुशी की बात को मान भी लिया जाए तो सिपाही ने जो आखिरी फैसला लिया उसके जिम्मेदार कौन हैं? इसका जवाब भी पुलिस के पास नहीं है।

जैसा की अधिकारी बता रहे हैं कि हाकिम सिंह पारिवारिक कलह के चलते तनाव में था, उस पर कोई भी विश्वास करने को तैयार नहीं। परिवार के लोग सीधे-सीधे कह रहे हैं कि हाकिम छुट्टी मांग रहा था मगर, उसकी बात नहीं सुनी जा रही थी। यदि हाकिम की आत्महत्या की वजह छुट्टी न मिलना ही है तो सीधे तौर पर विभाग के अधिकारी निशाने पर आ जाएंगे।

गत दिनों शासन द्वारा सिपाहियों के बड़े पैमाने पर किए गए तबादलों के तहत ही हाकिम को मैनपुरी से यहां भेजा गया था। पिछले माह 19 तारीख को ही उसकी पुलिस लाइन में आमद हुई थी। नया होने के कारण लाइन में तैनात सिपाही भी उसे ज्यादा नहीं जानते थे। एक सिपाही ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि तबादले के बाद भी हाकिम को तुरंत ही यहां आना पड़ा इसलिए वह मैनपुरी स्थित अपना सरकारी आवास खाली नहीं कर सका। इसीलिए उसकी एलपीसी (लास्ट पे सर्टिफिकेट) जारी नहीं हो पाई थी।

इसके चलते हाकिम को पिछले माह वेतन भी नहीं मिल पाया था। बताया जा रहा है कि वह मैनपुरी का आवास खाली कर अपनी एलपीसी जारी कराने के लिए ही अवकाश मांग रहा था। बार-बार आवेदन के बाद भी छुट्टी मंजूर न होने पर हाकिम बेहद तनाव में रहने लगा था। मंगलवार की रात बारह से तीन बजे तक जिला जज के बंगले पर वह वहां बिल्कुल तन्हा था मगर, उसके दिमाग में बहुत कुछ चल रहा था। हालांकि छुट्टी न मिलने की बात को पुलिस अधिकारी पुरजोर तरीके से नकार रहे हैं। पुलिस लाइन के आरआई का कहना है कि हाकिम ने छुट्टी लेने के लिए कोई प्रार्थना-पत्र नहीं दिया था।

सीओ सिटी का कहना है कि हाकिम पहले से ही तनाव में था और वह किसी से ज्यादा घुलता-मिलता नहीं था। उधर, एसपी सिटी और एसएसपी ने भी अवकाश न मिलने की बात को नकार दिया। एसएसपी का कहना है कि ऐसी कोई बात सामने नहीं आई है। उनका कहना था कि परिजनों से बातचीत के बाद यह तथ्य सामने आता है, तो उसकी निष्पक्ष जांच की जाएगी। फिलहाल पुलिस अधिकारी छुट्टी न मिलने की बात नकारने में ही अपनी भलाई समझ रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सिपाही की मौत पर खड़े हुए सवाल