DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चार दिन तक वकील करेंगे कोर्ट कार्य का बहिष्कार

वेस्ट यूपी में हाईकोर्ट बेंच की स्थापना को लेकर 20 नवंबर को दिल्ली के जंतर-मंतर पर होने वाले प्रदर्शन को लेकर अब वकीलों ने पूरी ताकत झोंक दी है। हाईकोर्ट बेंच स्थापना केन्द्रीय संघर्ष समिति ने आपात बैठक कर गुरुवार से रविवार तक कोर्ट कार्य से अलग रहने का ऐलान कर दिया। अर्थात वेस्ट के सभी 15 जिलों में चार दिनों तक कोई वकील कोर्ट कार्य नहीं करेंगे। न्यायिक कोर्ट के साथ ही डीएम, एडीएम और अन्य प्रशासनिक अधिकारियों के कोर्ट में काम नहीं होगा। उधर, संघर्ष समिति का मानना है कि 20 नवंबर को दिल्ली में एक बार फिर ऐतिहासिक प्रदर्शन होगा।

संघर्ष समिति के अध्यक्ष गजेन्द्र सिंह धामा और संयोजक सतीश शर्मा ने बताया कि कई जिलों के बार एसोसिएशन की ओर से 20 नवंबर की रैली की तैयारी को लेकर गुरुवार को भी कोर्ट कार्य से विरत रहने का प्रस्ताव आया था, जिसके बाद संघर्ष समिति ने सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित कर गुरुवार से लेकर रविवार तक कोर्ट कार्य नहीं करने का फैसला किया था। 20 नवंबर को दिल्ली में रैली को लेकर वकीलों के साथ ही दस्तावेज लेखक, स्टाम्प वेंडर आदि भी कार्य नहीं करेंगे। शनिवार को वकील पहले से ही कार्य नहीं करते हैं। अर्थात अब कोर्ट कार्य सोमवार से प्रारम्भ होगा। जिला बार एसोसिएशन ने भी दिल्ली रैली को लेकर गुरुवार को कार्य से अलग रहने का प्रस्ताव पारित किया है। अध्यक्ष राजीव कुमार त्यागी और महामंत्री रविन्द्र कुमार सिंह ने बताया कि अब बेंच की मांग जन-जन की मांग हो गई है। वकीलों के साथ ही आमजन की भावना भी इससे जुड़ गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चार दिन तक वकील करेंगे कोर्ट कार्य का बहिष्कार