DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब टैक्सी भाड़े में बढ़ोतरी की चर्चा

बस, मेट्रो के बाद अब राजधानी में तिपहिया व टैक्सी भाड़े में बढ़ोतरी की चर्चा उठने लगी है। तिपहिया व टैक्सी यूनियन भाड़ा बढ़ोतरी के लिए लामबंद होने लगे हैं। एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने सरकार से भाड़ा बढ़ोतरी किए जाने की मांग की है। उन्होंने चेतावनी दी है कि अगर अधिकारिकतौर पर भाड़ा नहीं बढ़ाया गया तो वह खुद यात्राियों से अधिक किराया वसूलना शुरू कर देंगे।

गौरतलब है कि डीटीसी व ब्लू लाइन बस और मेट्रो का भाड़ा बढ़ गया है। उनके भाड़े में बढ़ोतरी और मंहगाई के मद्देनजर ऑटो-टैक्सी चालक भी भाड़ा बढ़ोतरी की मांग करने लगे लगे हैं। राजधानी में ऑटो-टैक्सी की कई यूनियनें हैं। भाड़ा बढ़ाने के मुद्दे पर सभी एकमत हैं। हालांकि सरकार द्वारा मांग पर गौर नहीं करने की स्थिति में खुद भाड़ा बढ़ाने या आंदोलन करने के मुद्दे पर अभी एक राय नहीं बन पाई है। विभिन्न यूनियन के पदाधिकारियों ने सरकार को इस बाबत पत्र लिखा है और 30 नवंबर तक फैसला करने की मांग की है।

फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ऑटो-टैक्सी ट्रांस्पोर्टर्स के अध्यक्ष किशन वर्मा ने कहा कि सरकार व परिवहन विभाग को भाड़ा बढ़ाने समेत ऑटो-टैक्सी चालकों के अन्य मांगों से अवगत कराया गया है। जिसमें भाड़ा बढ़ाने के अलावा एनओसी, प्रदूषण व मीटर जांच, लाइसेंस लेने आदि में होने वाली परेशानियों को दूर करने की भी बात कही गई है। सरकार को 30 नंवबर से पहले यूनियन पदाधिकारियों को बातचीत के लिए समय देने के लिए लिखा गया है। प्रयत्नशील ऑटो रिक्शा ड्राइवर सेवा समिति के सचिव वी.के.भाटिया ने भी भाड़ा बढ़ाए जाने के मुद्दे पर कहा कि अगर सरकार 30 नवंबर तक कोई फैसला नहीं लेगी तो ऑटो चालक खुद अधिक किराया वसूलना शुरू कर देंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अब टैक्सी भाड़े में बढ़ोतरी की चर्चा