DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जयवर्धने के डबल से श्रीलंका ने हाथ में की बाजी

जयवर्धने के डबल से श्रीलंका ने हाथ में की बाजी

महेला जयवर्धने के नाबाद दोहरे शतक के दम पर श्रीलंका ने भारत के खिलाफ पहले टेस्ट के तीसरे दिन बुधवार को पहली पारी में 165 रन की बढ़त लेकर अपनी स्थिति काफी मजबूत कर ली।

जयवर्धने ने 27वां टेस्ट शतक और छठा दोहरा शतक जड़ते हुए पारी के सूत्रधार की भूमिका निभाई। उन्हें प्रसन्ना जयवर्धने (नाबाद 84) के रूप में बेहतरीन जोड़ीदार भी मिला। श्रीलंका ने भारत के पहली पारी के 426 रन के जवाब में तीसरे दिन पांच विकेट पर 591 रन बना लिए हैं।

बल्लेबाजों की ऐशगाह मोटेरा स्टेडियम की पिच का पूरा फायदा उठाते हुए श्रीलंकाई बल्लेबाजों ने आज तेज गति से रन बनाए। मंगलवार के स्कोर तीन विकेट पर 275 रन से आगे खेलते हुए श्रीलंका ने सिर्फ थिलन समरवीरा (70) और एंजेलो मैथ्यूज (17) के विकेट गंवाए। लंच के बाद दोनों जयवर्धने ने 216 रन की नाबाद साझेदारी करके श्रीलंका को भारतीय सरजमीं पर पहली टेस्ट जीत की ओर अग्रसर कर दिया। यह श्रीलंका की तरफ से छठे विकेट के लिए सबसे बड़ी साझेदारी है।

मैच में दो दिन बचे हैं और पिच से स्पिनरों को मदद मिल सकती है लिहाजा भारतीय टीम के लिए श्रीलंका को जीत से रोकना कड़ी चुनौती होगी। ऐसे में भारतीय बल्लेबाजों को अपनी पूरी क्षमता का प्रदर्शन करना होगा।

उन्मुक्त तरीके से रन बनते देख भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने रक्षात्मक रणनीति अपनाई लेकिन फिर भी रनगति पर अंकुश नहीं लग सका। महेला और प्रसन्ना कभी भी असहज नहीं दिखे और दोनों ने छठे विकेट के लिए रिकार्ड साझेदारी की। इससे पहले यह रिकार्ड अरविंद डिसिल्वा और अर्जुन रणतुंगा के नाम था जिन्होंने 1998 में कोलंबो टेस्ट में जिम्बाब्वे के खिलाफ 189 रन जोड़े थे। श्रीलंका ने भारत में दूसरी बार ही पहली पारी की बढ़त बनाई है और पहली बार 450 से अधिक रन जोड़े हैं।

सुबह जयवर्धने और समरवीरा ने अपने मंगलार के स्कोर क्रमश: 36 और 45 रन से आगे खेलना शुरू किया। समरवीरा की पारी का अंत लंच से 35 मिनट पहले ईशांत शर्मा ने किया और स्क्वेयर लेग पर युवराज सिंह ने उनका शानदार कैच लपका। चौथे विकेट के लिए उन्होंने 250 गेंद में 138 रन की साझेदारी की। हरभजन सिंह और अमित मिश्रा की स्पिन जोड़ी भी उन्हें परेशान नहीं कर सकी और भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के नई गेंद लेने से पहले ही दोनों ने अपने अर्धशतक पूरे कर लिए थे। ऑफ स्पिनर हरभजन ने लंच से ठीक पहले मैथ्यूज को शार्ट लेग पर गौतम गंभीर के हाथों लपकवाया।

जयवर्धने और मैथ्यूज ने लंच के बाद एक भी विकेट नहीं गिरने दिया। बत्तीस बरस के जयवर्धने ने सुबह हरभजन को पहला चौका जड़ा और दस मिनट के भीतर ही अपना 36वां अर्धशतक पूरा कर लिया। श्रीलंका के 300 रन 75वें ओवर में पूरे हुए। भारत ने दूसरी नई गेंद 80.1  ओवर में ली लेकिन शुरुआत में इसका कोई फायदा नहीं मिला। लेग स्लिप पर फील्डर खड़ा होने के बावजूद जयवर्धने ने ईशांत शर्मा को फाइन लेग में दो चौके लगाए।

इसके बाद धोनी ने हरभजन और मिश्रा को लंच से पहले फिर गेंद सौंपी। मैथ्यूज ने मिश्रा को नोबाल पर छक्का जड़ने के बाद चौका लगाया। अगले ही ओवर में हालांकि हरभजन की गेंद पर वह चूके और शार्ट लेग पर आसान कैच थमा दिया। टीवी रिप्ले में हालांकि वह फैसला विवादास्पद लग रहा था। जयवर्धने ने लंच के बाद अपना शतक पूरा किया जो भारत में उनका पहला शतक है। इससे पहले 2005 के भारत दौरे पर उन्होंने पांच पारियों में चार अर्धशतक बनाए थे। श्रीलंका के बाहर यह उनका नौवां और भारत के खिलाफ पांचवां सैकड़ा है।
स्कोर बोर्ड
पहला टेस्ट, तीसरा दिन
भारत पहली पारी 426 रन
श्रीलंका पहली पारी पांच विकेट पर 591 रन
दिलशान का द्रविड़ बो जहीर 112
परानविताना का धोनी बो ईशांत 35
संगकारा का तेंदुलकर बो जहीर 31
जयवर्धने नाबाद 204
समरवीरा का युवराज बो ईशांत 70
मैथ्यूज का गंभीर बो हरभजन 17
जयवर्धने नाबाद 84
अतिरिक्तः 38 रन
विकेट पतनः 1-74, 2-189, 3-194, 4-332, 5-375।
गेंदबाजी
जहीर 30-4-93-2
ईशांत 28-0-108-2
हरभजन 39-3-151-1
मिश्रा 43-6-152-0
युवराज 13-1-49-0
तेंदुलकर 7-0-20-0

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जयवर्धने के डबल से श्रीलंका ने हाथ में की बाजी