DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खंडवा में ताप बिजली घर के लिए भेल का करार

खंडवा में ताप बिजली घर के लिए भेल का करार

सार्वजनिक क्षेत्र की भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लि. (भेल) ने मध्य प्रदेश में 1,600 मेगा वाट क्षमता के बिजली घर की स्थापना के उद्देश्य से मध्य प्रदेश पावर जेनरेशन कंपनी (एमपीपीजीसीएल) के साथ संयुक्त उपक्रम की स्थापना के लिए सहमति ज्ञापन (एमओयू) पर दस्तखत किए हैं।

यह संयुक्त उपक्रम खंडवा में 800-800 मेगावाट की दो सुपरक्रिटिकल इकाइयां लगाएगा। भेल की बुधवार को नई दिल्ली में जारी एक विज्ञप्ति में यह जानकारी दी गई है। सुपरक्रिटिकल तकनीक से कोयले की बचत होती है और इसे पर्यावरणनुकूल माना जाता है।

भेल ने कहा है कि इस परियोजना के विकास को प्राथमिकता के आधार पर लिया जा रहा है। कोयला आधारित बिजली संयंत्र की पहली इकाई को भेल को आर्डर दिए जाने के बाद 48 माह में पूरा कर लिया जाएगा। कंपनी ने बताया कि दूसरी इकाई 54 माह में परिचालन में आ जाएगी।

एमओयू के तहत भेल और एमपीपीजीसीएल संयुक्त उपक्रम कंपनी का गठन करेंगी। शुरुआत में दोनों की इस संयुक्त उपक्रम में बराबर की हिस्सेदारी होगी। बाद में हिस्सेदारी को बेचा जाएगा, जिसके बाद भेल और एमपीपीजीसीएल दोनों की हिस्सेदारी घटकर 26-26 प्रतिशत रह जाएगी और शेष 48 प्रतिशत हिस्सेदारी वित्तीय संस्थानों और बैंकों को दी जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:खंडवा में ताप बिजली घर के लिए भेल का करार