DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

टेस्ट क्रिकेट को बढ़ावा दे आईसीसी: विश्वनाथ

टेस्ट क्रिकेट को बढ़ावा दे आईसीसी: विश्वनाथ

राहुल द्रविड़ की श्रीलंका के खिलाफ अहमदाबाद में पहले टेस्ट में 177 रन की बेहतरीन पारी से प्रेरित होकर भारत के पूर्व कप्तान गुंडप्पा विश्वनाथ ने आईसीसी से टेस्ट क्रिकेट को कम करके नहीं आंकने और इसका प्रचार करने को कहा है।

विश्वनाथ ने कहा कि टेस्ट क्रिकेट ही असली क्रिकेट है। इसमें खिलाड़ी के कौशल की परीक्षा होती है। यह असल क्रिकेट है जिसमें सभी खिलाड़ी अपना साहस दिखाना चाहते हैं। मैं चाहता हूं कि आईसीसी टेस्ट क्रिकेट को बढ़ावा देने पर गंभीरता से विचार करे।

उन्होंने कहा कि भारत जब लड़खड़ा (32 रन पर चार विकेट) रहा था तब ऐसी लाजवाब पारी खिलाड़ी के कौशल और जज्बे को दर्शाती है। सिर्फ टेस्ट में ही आप ऐसा कर सकते हो। यह काबिलियत, कौशल और जज्बे को दिखाने का मौका देता है।
     
विश्वनाथ ने कहा कि आईसीसी को समझना होगा कि द्रविड़, तेंदुलकर और पोंटिंग जैसे खिलाड़ियों की क्षमता, कौशल और हुनर ने क्रिकेट को जिंदा रखना होगा। इस तिकड़ी ने कुछ अन्य लोगों के साथ मिलकर दिखाया है कि टेस्ट क्रिकेट क्या चीज है। यह दर्शनीय खेल है।

विश्वनाथ ने टेस्ट क्रिकेट को डे-नाइट करने के लिए गुलाबी गेंदों का इस्तेमाल करने के आईसीसी के विचार का भी विरोध किया और उन्होंने कहा कि अगर आईसीसी और इससे भी अधिक अगर बीसीसीआई टी-20 को बढ़ावा देता रहा तो टेस्ट क्रिकेट अपनी चमक खो देगा। आईसीसी को टेस्ट क्रिकेट में गुलाबी गेंद के इस्तेमाल के बारे में नहीं सोचना चाहिए। लाल गेंद पारंपरिक है। इसे सिर्फ टी-20 क्रिकेट के दबाव में नहीं झुकना चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:टेस्ट क्रिकेट को बढ़ावा दे आईसीसी: विश्वनाथ