DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एमएलसी का चुनाव लड़ेगा माफिया

माफिया बृजेश सिंह अपने भाई उदयनाथ सिंह उर्फ चुलबुल सिंह की सीट से एमएलसी का चुनाव लड़ेगा। उदयनाथ इस बार चुनाव नहीं लड़ रहे हैं। बृजेश कांग्रेस का टिकट चाहता है। कांग्रेस के टिकट लिए उसने अपने पिता स्व. भुल्लनसिंह के मित्र सतीश चौबे से संपर्क साधा है। चौबे कांग्रेस का प्रदेश महासचिव हैं। उसकी बृजेश से इसी रविवार (15 नवंबर) को सेंट्रल जेल में मुलाकात हुई थी।

वाराणसी-चंदौली-भदोही स्थानीय निकाय चुनाव के लिए अगले महीने चुनाव होना है। मौजूदा समय में उदयनाथ सिंह इस सीट से एमएलसी है। अभी वह अस्वस्थ है अतः चुनाव लड़ने की स्थिति में नहीं है। इस सीट पर अब उनके सगे भाई बृजेश सिंह की नजर है। उसने इसी सीट से चुनाव लड़ने का निर्णय लिया है। पहले वह बसपा से टिकट चाहता था। इसके लिए उनका भतीजा धानापुर के बसपा विधायक सुशील सिंह से टिकट के लिए जोड़-तोड़ में लगा था, लेकिन बसपा हाईकमान ने टिकट देने से साफ मना कर दिया। भाजपा ने भी उसे टिकट देने में असमर्थता जता दी, तो वह कांग्रेस के टिकट पाने के प्रयास में जुट गया।

रविवार को प्रदेश कांग्रेस के महासचिव सतीश चौबे पहली बार बृजेश से मिलने सेंट्रल जेल गए। बृजेश ने उन्हें संदेश भेजकर बुलवाया था। इस बात का उल्लेख जेल के रजिस्टर में भी दर्ज है। बताया जाता है कि वर्ष 1982 में चौबे चोलापुर ब्लॉक के प्रमुख बने थे, उस समय बृजेश के पिता भुल्लन सिंह ने उनकी काफी मदद की थी। बृजेश सिंह से उनका पारिवारिक रिश्ता था। राजनीति में बृजेश के पिता द्वारा किए गए सहयोग के आधार पर चौबे पहली बार जेल में उससे मिलने गए थे। बृजेश ने स्पष्ट किया कि वह हर हाल में एमएलसी का चुनाव लड़ेगा। उसने कांग्रेस के टिकट के लिए प्रयास करने के लिए इच्छा जताई।

चौबे ने कहा कि वह इस सिलसिले में प्रदेश हाईकमान से बात करेंगे। बृजेश से हुई मुलाकात के बारे में पूछे जाने पर चौबे ने कहा कि अगर बाहुबली विधायक अजय राय कांग्रेस में जा सकते हैं तो बृजेश सिंह क्यों नहीं? बृजेश का परिवार भी अजय राय से ज्यादा राजनीतिक है। मौजूदा समय में पिता एमएलसी और भतीजा विधायक है। दोनों चुनाव लड़कर जीते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एमएलसी का चुनाव लड़ेगा माफिया