DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पर्यटन से बहुरेंगे प्रतापनगर के दिनः निशंक

मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि टिहरी बांध की ङील की वजह से कष्ट झेल रहे प्रतापनगर वासियों को आने वाले समय में इसका सबसे ज्यादा फायदा मिलेगा। टिहरी बांध की विशाल झील इसे पर्यटन के क्षेत्र में विश्व स्तरीय दर्जा दिलाएगी।

प्रतापनगर को जिला मुख्यालय से जोड़ने के लिए 2 करोड़ 50 लाख की लागत से बने मदननेगी टिपरी रोपवे पर बैठकर उसका लोकार्पण करने के बाद निशंक ने मदननेगी में एक हैलीपैड व घोण्टी में एक हल्का वाहन पुल निर्माण की भी घोषणा की। उन्होंने डोबरा चांठी में बनने वाले भारी मोटर पुल के निर्माण के लिए जल्दी ही राज्यांश के तौर पर 10 करोड़ जारी करने का भी आश्वासन दिया।

मुख्यमंत्री ने जहां टिहरी जिले में डेरी प्लांट व प्रोडक्शन ब्लॉक समेत आधा दजर्न सड़कों का लोकार्पण किया वहीं कई नई योजनाओं की भी घोषणा की। नई घोषणाओं में स्यांसू-भौंगा मोटर मार्ग के सुदृढ़ीकरण के लिए 4 करोड़, अगरोड़ा मोटर मार्ग के चौड़ीकरण के लिए 72 लाख, मदननेगी-खोला मोटर मार्ग के डामरीकरण के लिए 2 करोड़ 18 लाख, लंबगांव-कंडियाल गांव मार्ग के लिए 1 करोड़ 36 लाख, प्रतापनगर-नेल्डा मार्ग के लिए 97 लाख, गडोलिया-पिलखी मोटर मार्ग के लिए 4 करोड़ 69 लाख  व नई टिहरी-अंजनीसैण-बैंसोली मार्ग के लिए 3 करोड़ 60 लाख की घोषणाएं की। मदननेगी में मुख्यमंत्री का स्वगत करते हुए क्षेत्रीय विधायक विजय सिंह पंवार ने 25 सूत्री मांग पत्र मुख्यमंत्री को सौंपा।

प्रतापनगर क्षेत्र के कांग्रेसजनों व प्रबुद्ध लोगों ने मुख्यमंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक को ज्ञापन देकर बांध प्रभावित क्षेत्र की समस्याओं का प्राथमिकता के आधार पर निराकरण करने की मांग की है। मुख्यमंत्री को दिए ज्ञापन में उन्होंने कहा कि बांध निर्माण के पश्चात प्रतापनगर के लोगों को अनेक समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। ब्लॉक प्रमुख जाखणीधार जगदंबा प्रसाद रतूड़ी ने मुख्यमंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक को ज्ञापन सौंपकर जाखणीधार क्षेत्र की समस्याओं के निराकरण की मांग की है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पर्यटन से बहुरेंगे प्रतापनगर के दिनः निशंक