DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गांव खाली, वैट में अब सिर्फ सन्नाटा

रात भर पुलिस-पीएसी से उलङो रहने के बाद वैट गांव के ज्यादातर लोग अब गायब हो लिए हैं। सबको गिरफ्तारी का डर है। सन्नाटे के बीच अब घरों पर सिर्फ महिलाएं और बच्चाे नजर आ रहे हैं। हर तरफ हर तरफ पुलिस और पीएसी का पहरा बिठा दिया गया है। सोमवार रात सिंभावली थाने में हुई आगजनी, तोड़फोड़, पथराव, लूटपाट के सिलसिले में पुलिस अब धरपकड़ में जुटी है। कुछ लोगों को हिरासत में भी लिए जाने की खबर है।


वैट की गिनती जिले में पंद्रह हजार से ज्यादा आबादी वाले ग्रामों में होती है। अल्पसंख्यक बहुल इस गांव में सोमवार शाम दबिश के दौरान पुलिस की गोली से परवेज नामक नौजवान की मौत हो गई थी। इसे लेकर गांववाले भड़क उठे थे। उग्र भीड़ ने सिंभावली थाने और एनएच 24 पर ऐसा बवाल काटा कि लखनऊ तक हिल गया। थाना फूंक डाला। दजर्नों वाहनों को जला दिया। पुलिसकर्मियों को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा था। रात भर हाइवे को बंधक बनाकर रखा था। आठ घंटे बाद पुलिस और पीएसी ने हवाई फायरिंग और लाठीचार्ज कर किसी तरह गांववालों को खदेड़ा था। तब कहीं हालात सामान्य हो सके थे।


अब पुलिस रात के उपद्रव में शामिल सैकड़ों लोगों की कानूनी घेराबंदी में जुटी है। थाने का रिकार्ड जल जाने से दूसरे दिन शाम तक पुलिस इस मामले में एफआईआर तो दर्ज नहीं कर सकी, हालांकि सैकड़ों लोगों के खिलाफ बलवा, आगजनी, लूटपाट, तोड़फोड़, अफसरों पर जानलेवा हमले जैसे संगीन धाराओं में कार्रवाई की तैयारी जरूर कर ली। लोग पहले ही पुलिस की तैयारी भांप गए थे, इसलिए गांव के ज्यादातर पुरुष सुबह होने से पहले ही भूमिगत हो लिए। महिलाएं और बच्चों रह गए हैं जो खुद काफी डरे हुए हैं। उधर, पुलिस की गोली से मारे गए परवेज के परिवार में कोहराम मचा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गांव खाली, वैट में अब सिर्फ सन्नाटा