DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बॉक्सिंग टीम से उलझना स्कॉट टीम को पड़ा महंगा

बॉक्सिंग टीम से ट्रेन में उलझना और धक्का मुक्की करना आरपीएफ स्कॉट टीम को महंगा पड़ा। पुलिस मुख्यालय में वायरलैस पर तैनात बॉक्सिंग कोच देवेन्द्र कुमार की तहरीर पर इस संबध में जीआरपी थाने में देर रात मुकदमा दर्ज कराया गया है। मारपीट,धमकी और छीनाझपटी की गंभीर धाराओं के तहत नामजद मुकदमे में आरपीएफ के एएसआई अशोक कुमार व स्कॉट टीम के चार जवान आरोपी है। हापुड़ स्टेशन पर लखनऊ मेल में हुई इस बर्बर घटना की जांच हापुड़ जीआरपी चौकी के दोरागा को सौंपी गई है।


जीआरी निरीक्षक सुरजन सिंह ने बताया कि घटना 11 अक्टूबर की रात लखनऊ मेल में घटी थी। तब लखनऊ से आई बॉक्सिंग टीम कोच देवेन्द्र कुमार के नेतृत्च में मेरठ से प्रतियोगिता में भाग लेकर वापस लखनऊ लौट रही थी। हापुड़ में से सभी लखनऊ मेल में सवार हुए,टीम के कोच देवेन्द्र व सदस्य बॉक्सर राजेश कनौजिया जल्दबाजी में स्लीपर बोगी में सवार हो गए। ट्रेन के खुलते ही स्कॉट टीम के दरोगा अशोक कुमार ने कोच से टिकट मांगा।

टिकट देखने के बाद कोच से सामान्य दर्जे की टिकट पर स्लीपर में यात्रा करने पर उनसे बागी चेज करने को कहा गया। जो कि चलती ट्रेन में संभव नही था,लिहाजा देवेन्द्र व राजेश ने अगले स्टेशन तक उसी में सफर करने की गुजारिश की,लेकिन खाकी बर्दी वाले कहां सुनने वाले? उन्होंने पुलिस मुख्यालय में वायरलैस विभाग में तैनात देवेन्द्र व राजेश से पुलिसिया रौब में जमकर घींगाकुश्ती की। धक्का मुक्की के साथ ही आरपीएफ के जवानों ने बॉक्सर कोच को चलती ट्रेन से नीचे फेंक दिया,जिससे उसके फ्रैक्चर हो गए। आरपीएफ वाले इतने से शांत नहीं हुए और राजेश को लखनऊ में पकड़वा दिया।


इंस्पेक्टर सिंह ने बताया कि धारा 323, 356,504 व 325 के तहत मुकदमा दर्ज कराया गया है। रिपोर्ट में बॉक्सरों ने धक्का मुक्की,ट्रेन से नीचे फेंकने के साथ ही मोबाइल व नकदी छीनने का आरोप भी लगाया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बॉक्सिंग टीम से उलझना स्कॉट टीम को पड़ा महंगा