DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जिसकी लाश मिली थी, वह छात्र घर लौटा

चार दिन पहले शहर के ग्वालटोली इलाके में मिली जली हुई लाश भोगनीपुर से अपहत छात्र प्रिंस की नहीं थी क्योंकि प्रिंस आज अपने घर वापस लौट आया। अब पुलिस की समझ में नहीं आ रहा है कि 13 नवंबर को मिली लाश किसकी थी, जिसकी शिनाख्त प्रिंस के रूप में की गई थी।

गौरतलब है कि 13 नवंबर को शहर के ग्वालटोली इलाके में पार्क के बाहर एक लड़के का शव बरामद हुआ। शव का चेहरा बुरी तरह जला हुआ था कि उसकी पहचान होना मुश्किल था। इस संबंध में अखबारों में सूचना प्रकाशित करने के बाद शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया। शनिवार 14 नवंबर को ग्वालटोली में कानपुर देहात जिले के भोगनीपुर के रमेश ने उस शव के फोटो और पैंट का टुकड़ा तथा मोजे देखने के बाद उसकी पहचान 23 अक्टूबर से अपहत अपने पुत्र बीएससी के छात्र प्रिंस (19) के रूप में की।

इस कहानी में आज एक एक नया मोड़ आ गया। कानपुर देहात के पुलिस अधीक्षक के एस पिपिल ने बताया कि 23 अक्टूबर से लापता प्रिंस ने आज अपने घर फोन किया और अपने पिता को बताया कि वह कालपी रेलवे स्टेशन पर खड़ा है। इस सूचना पर उसके पिता गांव के कुछ लोगों के साथ कालपी रेलवे स्टेशन पहुंचे और जीते जागते प्रिंस को अपने घर ले आए। पुलिस उससे उसकी गुमशुदगी के बारे में पूछताछ कर रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जिसकी लाश मिली थी, वह छात्र घर लौटा