DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गाजियाबाद के एसपी समेत चार निलंबित

उत्तर प्रदेश सरकार ने गाजियाबाद जिले के सिंभावली क्षेत्र में पुलिस की गोली से हुई एक व्यक्ति की मौत के बाद गुस्साई भीड़ द्वारा थाना फूंके जाने की घटना को गंभीरता से लेते हुए जिले के अपर पुलिस अधीक्षक (देहात) और पुलिस उपाधीक्षक समेत चार पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया है।

आधिकारिक सूत्रों के अनुसार सिंभावली गांव के पास कुछ लोग सोमवार शाम गन्ने के खेत मे जुआ खेल रहे थे। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची तो वे लोग भागने लगे। इस बीच सुधीर कुमार नामक पुलिसकर्मी ने गोली चला दी। गोली लगने से परवेज घायल हो गया था। घायल को जब अस्पताल ले जाया जा रहा था तो उसने रास्ते में ही दम तोड़ दिया था।

परवेज की मौत की सूचना के बाद गुस्साए ग्रामीणों ने थाने का घेराव किया और आग लगा दी। भीड़ ने दिल्ली-लखनऊ राष्ट्रीय राजमार्ग पर जाम लगा दिया और कई वाहनों को आग लगा दी जिसमें पुलिस के वाहन भी शामिल थे। इस घटना के बाद पुलिसकर्मी थाना छोड़कर भाग गए और काफी देर तक अफरातफरी रही। घटना में कई अधिकारी भी घायल हो गए थे।

घटना की गंभीरता को देखते पुलिस महानिदेशक और प्रमुख सचिव गृह ने देर रात गाजियाबाद के अपर पुलिस अधीक्षक (देहात) केके अस्थाना पुलिस उपाधीक्षक राजपाल सिंह और थाना प्रभारी कुंवरपाल सिंह चाहर को निंलबित कर दिया। गोली चलाने वाले पुलिसकर्मी को पहले ही निंलबित किया जा चुका है।

इस बीच गाजियाबाद के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अखिल कुमार ने बताया कि इस घटना के लिए जिम्मेदार पुलिसकर्मियों के खिलाफ मामला दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार किया जाएगा। उन्होंने बताया कि मृतक परवेज का रात को ही पोस्टमार्टम करा दिया गया था। उन्होंने बताया कि मामले की जांच के आदेश दे दिए गए हैं। घटना के लिए जिम्मेदार पुलिसकर्मी फरार हो गए हैं। उन्होंने बताया कि क्षेत्र में तनाव को देखते हुए बडी़ संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। स्थिति पर नजर रखी जा रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गाजियाबाद के एसपी समेत चार निलंबित