DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सौर जल तापन प्रणाली से बचाई बिजली

हरियाणा अक्षय ऊर्जा विकास प्राधिकरण (हरेडा) ने ऊर्जा बचाने के लिए अब तक प्रदेश में 1.412 सौर जल तापन प्रणालियां स्थापित की हैं। इससे 18.13 मिलियन किलोवाट बिजली की वार्षिक बचत हुई है।

यह जानकारी हरियाणा के बिजली एवं अक्षय ऊर्जा मंत्री महेद्र प्रताप सिंह ने सोमवार को यहां दी। उन्होंने बताया कि सौर जल तापन प्रौद्योगिकी समस्त विश्व में जल तापन के लिए लागत प्रभावी और पयार्वरण मैत्री विकल्प के रूप में उभरी है। प्रत्येक 100 लीटर क्षमता की एक हजार सौर जल तापन प्रणालियों की स्थापना से एक मेगावाट बिजली की बचत हो सकती है और साथ ही विश्व में बढ़ते तापमान की समस्या को भी कम किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि एक 100 लीटर सौर जल तापन प्रणाली से 1.5 टन कार्बन डाइआक्साइड के वार्षिक उत्सर्जन से भी बचा जा सकता है। सौर जल तापन प्रणाली की उपयोगिता को देखते हुए राज्य सरकार ने उद्योगों, अस्पतालों, नर्सिंग होम्स, होटलों, जेल बैरकों व सरकारी भवनों में इस प्रणाली के उपयोग का अनिवार्य बनाया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सौर जल तापन प्रणाली से बचाई बिजली