DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फाफामऊ में दो बहनें गंगा में डूबीं

सोमवार को फाफामऊ में गंगा स्नान करने गईं दो सगी बहनें डूब गईं। हादसे के वक्त वहाँ स्नान कर रहे लोगों ने शोर मचाया लेकिन मौके पर कोई गोताखोर या मल्लाह नहीं था। सूचना पर पहुँची पुलिस ने दारागंज से गोताखोर और फायर ब्रिगेड की टीम बुलवाई। देर शाम तक दोनों बहनों की तलाश जारी रही। घटना के बाद से घर में कोहराम मचा हुआ है।

तेलियरगंज निवासी डॉ. राम लखन पाण्डेय तेज बहादुर सप्रू अस्पताल (बेली) में मलेरिया इंस्पेक्टर हैं। उनकी बहू मोनी (20) कुछ दिन पहले अपने मायके सोरांव के महरुडीह गाँव गई थी। सोमवार को वह छोटी बहन रोशनी (16) के साथ फाफामऊ स्थित गंगाघाट स्नान करने आई थी। नहाते समय रोशनी का पैर अचानक गहरे पानी में चला गया और वह डूबने लगी। उसकी चीख-पुकार सुनकर मोनी का ध्यान बहन की तरफ गया। छोटी बहन को बचाने में मोनी भी गहरे पानी में चली गई और डूबने लगी।

दोनों बहनें मदद के लिए चीखने लगीं। उनकी आवाज सुनकर आसपास के लोगों ने शोर मचाया लेकिन मौके पर मदद के लिए कोई गोताखोर या मल्लाह नहीं था। घटना की जानकारी पुलिस को दी गई। दारागंज से गोताखोर बुलवाए गए। जानकारी मिलने पर फायर ब्रिगेड टीम भी मौके पर पहुँच गई। गोताखोरों ने पूरा दिन दोनोंे बहनों को तलाश किया लेकिन उनका कुछ पता नहीं चला। देर शाम अंधेरा हो जाने के कारण गोताखोरों ने काम रोक दिया। मंगलवार को फिर दोनों बहनों की तलाश की जाएगी।

उधर, घटना के बाद घर में रोना-पीटना मच गया। खबर मिलते ही मोनी के ससुराल वाले पहुँच गए। घरवालों ने बताया कि रामलखन पाण्डेय की पाँच बेटियों में दूसरे नंबर की मोनी की शादी दो साल पहले नवाबगंज के करीमुद्दीनपुर शेखपुर साहब गाँव निवासी डॉ. रामलखन पाण्डेय के बेटे रत्नेश से हुई थी। मोनी की अन्य चार बहनों का नाम सोनी, बेबी, रोशनी और बिट्टी है। उसके दो भाई अप्पू और अमित हैं। मोनी और उसका पति रत्नेश फाफामऊ के डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी महाविद्यालय में बीए तृतीय वर्ष में पढ़ते हैं। रोशनी इण्टरमीडिएट की छात्र है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:फाफामऊ में दो बहनें गंगा में डूबीं