DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

किराया दें वर्ना परीक्षा छूटेगी

सीएसए कृषि विश्वविद्यालय के 11 सौ हॉस्टल छात्रों पर 23 लाख बकाया हो जाने के बाद विश्वविद्यालय प्रशासन हरकत में आया है। छात्रों को नोटिस दे कर 25 नवम्बर तक इन्हें विश्वविद्यालय का भुगतान करने को कहा गया है। विश्वविद्यालय प्रशासन का दावा है कि अब 400 छात्रों का ही बकाया शेष है। जो छात्र भुगतान नहीं करेंगे उन्हें परीक्षा में बैठने नहीं दिया जाएगा। सीएसए के हॉस्टल में रह रहे छात्रों ने मेस का खर्च देना बन्द कर दिया था। कुलपति डॉ. जीसी तिवारी ने जब  इसकी जाँच पड़ताल कराई तो पता चला कि 11 सौ छात्रों ने मेस (खान-पान) का भुगतान नहीं किया है।

हॉस्टल में रहने वाले छात्रों को प्रति डायट 18 रुपए और प्रतिदिन के भोजन का खर्च रु 26 है। इन पर लाखों के बकाय के बाद वसूली अभियान चलाया गया। छात्रों पर पेनाल्टी लगाने और इनकी छात्रवृत्ति रोके जाने समेत परीक्षा में बैठने से रोकने की चेतावनी के बाद छात्रों ने बकाया भुगतान करना शुरू कर दिया।

अलग-अलग हॉस्टल में रह रहे छात्रों से अब तक 17 लाख की वसूली हो चुकी है। अभी भी छह लाख का भुगतान बाकी है। औसतन 400 छात्रों ने अभी भी भुगतान नहीं किया है। इन्हें दोबारा नोटिस दिया गया है। इन छात्रों को आखिरी मौका देते हुए कहा गया है कि 25 नवम्बर तक छात्र राशि का भुगतान एक हजार अतिरिक्त शुल्क (पेनाल्टी) के साथ कर सकते हैं। अगर इसके बाद भी छात्र मेस का भुगतान नहीं करते हैं तो उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जा सकती है।

छात्र कल्याण अधिष्ठाता प्रोफेसर एसबीएल श्रीवास्तव ने बताया कि छात्रों पर लम्बे समय से बकाया है। जिस समय स्वयं कुलपति छात्र संकाय के डीन का कार्यभार सँभाले थे, तो उन्होंने इसकी जाँच कराई थी। इसके बाद से ही वसूली हो सकी। अभी तक सात सौ छात्रों ने भुगतान कर दिया है और शेष पेनाल्टी माफ कराने के लिए दबाव डाल रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:किराया दें वर्ना परीक्षा छूटेगी