DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मधु कोड़ा पर कार्रवाई चुनावी स्टंटः नीतीश

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि मधु कोड़ा पर कार्रवाई महज चुनावी स्टंट है। बाद में मामले की लीपा-पोती कर दी जाएगी। सच तो तभी सामने आएगा जब कोड़ा से जुड़े हरेक व्यक्ति की जांच हो। हालांकि मुझे निष्पक्ष जांच के आसार कम ही दिखते हैं।

सोमवार को जनता दरबार के बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि राजद, कांग्रेस, झारखण्ड मुक्ति मोर्चा और यहां तक की केन्द्र की यूपीए सरकार ने भी 23 माह तक कोड़ा को मुख्यमंत्री बनाये रखा। चुनाव के समय पकड़वाकर एक्शन लेता दिखा रहे हैं। इससे कोड़ा के ‘आकाओं’ का दोष कम नहीं होगा। झारखण्डवासी ऐसे लोगों को सबक सिखाएंगे। एनडीए की अच्छे बहुमत के साथ वापसी होगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखण्ड के ‘महाघोटाले’ की जानकारी रहने पर भी अगर केन्द्र की यूपीए सरकार मौन रही तो फिर देश कैसे चलेगा? कोड़ा को सीएम बनाने वाले सभी राजनीतिक दल झारखण्ड की बदहाली के लिए जिम्मेदार हैं। जदयू इसे चुनावी मुद्दा बनायेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार में सरकार नहीं बनने की स्थिति में एक साल के भीतर दो बार चुनाव हो सकते हैं, तब तमाम विपरीत हालात के बावजूद झारखण्ड में दो साल तक चुनाव क्यों नहीं कराया गया? राजद, कांग्रेस और जेएमएम ने जिस उद्देश्य से निर्दलीय कोड़ा के नेतृत्व में सरकार बनवायी, अब वह उसी का परिणाम देखकर भाग रहे हैं। झरखण्ड में विकास की अपार संभावनाएं हैं, लेकिन लूट की वजह से यह राज्य बर्बाद हो गया। वहां सवाल आदिवासी या गैर आदिवासी का नहीं है, मुद्दा सिर्फ जवाबदेह मुख्यमंत्री का है। अगर बिहार चार साल में इतना आगे बढ़ सकता है, तो झारखण्ड क्यों नहीं? 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मधु कोड़ा पर कार्रवाई चुनावी स्टंटः नीतीश