DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हरिद्वार में होगा राष्ट्र सुरक्षा कुंभ

महाकुंभ के दौरान हरिद्वार में एक और कुंभ लगेगा। इसे राष्ट्र सुरक्षा कुंभ नाम दिया गया है। राष्ट्र की सुरक्षा से जुड़े इस कुंभ में महत्वपूर्ण राजनीतिक हस्तियों के अलावा लगभग 90 रक्षा विशेषज्ञ हिस्सा लेंगे। देश के हिमालयी व पड़ोसी देश की सीमा से जुड़े अन्य राज्यों (गुजरात व राजस्थान) के मुख्यमंत्रियों को भी कुंभ में  शामिल होने के लिए न्योता भेजा जा रहा है।

मार्च की नौ व दस तारीख को आयोजित होने वाले राष्ट्र सुरक्षा कुंभ में सेना, एसएसबी, पुलिस व देश की प्रतिष्ठित खुफिया एजेंसियों के कई पूर्व अधिकारी शिरकत करेंगे। विभिन्न क्षेत्रों से जुड़े सैन्य विशेषज्ञ देश के आंतरिक व बाह्य खतरे को रिेखांकित करते हुए अपने बहुमूल्य विचार रखेंगे। कुंभ में सभी रक्षा विशेषज्ञ अपने अनुभवों के आधार पर व्यवहारिक एक्शन प्लान भी तैयार करेंगे।

देश में अपने तरीके के अनूठे राष्ट्र सुरक्षा कुंभ में कुल 90 सैन्य विशेषज्ञों को आमंत्रित किया जा रहा है। इस कुंभ की महत्ता को देखते हुए 60 सैन्य विशेषज्ञों ने अपनी स्वीकृति दे दी है। सैन्य विशेषज्ञों के अलावा कई संगठनों के प्रतिनिधियों को भी कुंभ के लिए आमंत्रित किया जा रहा है।

सूत्रों के मुताबिक राष्ट्र सुरक्षा कुंभ में नेपाल के माओवाद, आतंकवाद, नक्सवाद, घुसपैठ समेत देश के अंदरूनी खतरों पर विस्तार से चर्चा की जाएगी। कश्मीर को भारत से अलग मानते हुए चीन का पेपर वीजा जारी करना समेत तमाम संवेदनशील मुद्दों पर चर्चा होने की उम्मीद है। इन खतरों से निपटने के लिए एक ठोस कार्ययोजना भी तैयार की जाएगी। पूवरेत्तर व जम्मू कश्मीर के उग्रवाद के अलावा उत्तराखंड में माओवाद के बढ़ते खतरों को कुंभ की विशेष प्राथमिकता सूची में रखा गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हरिद्वार में होगा राष्ट्र सुरक्षा कुंभ