DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चिड़ियों जैसा बर्ड ऑफ पैराडाइज

चिड़ियों जैसा बर्ड ऑफ पैराडाइज

आपने स्वर्ग की कल्पना चाहे न की हो, परन्तु ‘बर्ड ऑफ पेराडाइज’ के नाम से लोकप्रिय इस पुष्प को अवश्य देखा होगा। राइजोम कंदवाला यह पुष्प केले का सम्बन्धी है और अत्यन्त आकर्षक होता है। अफ्रीका के मूल निवासी इस पुष्प के पत्ते केना की भांति मोटे व चिकने और लम्बे होते हैं। अंतर इतना है कि पत्तों के किनारे व बीच की नस लाली लिए होती है और फूल न होने पर ये पत्तों भी उद्यान की शोभा में हाथ बंटाते हैं।

इसे स्ट्रोलिट्जिया रेगिनआई भी कहते हैं। यह फूल अत्यन्त आकर्षक होता है व इसकी संरचना भी उतनी ही विचित्र होती है, जो इसे ‘स्वर्ग के पक्षी’ का नाम का कारण बनती है। यही कारण है कि अफ्रीका में इसका नाम ‘क्रेन फ्लावर’ (सारस फूल) भी है। एक लम्बी कली, जो देखने में लम्बे हरे मुड़े पत्तों जैसी लगती है, निकलती है। देखने में यह आकाश की ओर फैली हथेली जैसी लगती है। उसी कली के बीच में से लगभग 20 से.मी. (8 इंच) लम्बा फूल खिलता है। नाव के आकार के सपेथे में से कई गहरे पीले सुनहरे नारंगी रंग के फूल खिलते हैं। प्रत्येक फूल में तीन सुनहरी पंखुड़ियां होती है, जिनके बीच में नीले जमुनी रंग की दो पादपदल व एक छोटी पंखुड़ी निकलती है। ये सभी मिल कर पुष्प को पक्षी के सिर की कलगी का आभास कराती हैं। नीली पंखुड़ी, जो चोंच जसी होती है, इसके पराग का भंडार होती है। जब कोई पक्षी मधु पीने आता है तो इस चोंच में से पुंकेसर बाहर निकलने लगते हैं और पराग कण बिखरने लगते हैं। इसकी साढ़े तीन फीट लम्बी टहनी काफी मोटी व मजबूत होती है और फूल की पंखुड़ियां भी काफी सख्त होती हैं। इसी से ये पक्षी का भार बहुत आसानी से ङोल लेती हैं। उष्ण कटिबंधीय प्रदेशों के उद्यान में बाहर लगाए जने के लिए यह अत्यन्त सुंदर पुष्प है, जो अपने हरे कमनीय पत्तों के कारण भी उद्यान की शोभा बढ़ाता है। इसके लिए खुली धूप के बजए मिली-जुली धूप-छाया चाहिए होती है। भूमि में भी पर्याप्त नमी इसे प्रिय है। सर्द शुष्क हवाएं व पाला इन्हें पसंद नहीं है।

यह पुष्प अमेरिका के लॉस एंजेल्स राज्य का राजकीय चिह्न् है, क्योंकि यह वहां बहुतायत से उगता व उगाया जाता है। कंद के विभाजन व अगल-बगल से निकलने वाले पौधों को विभाजित करके नए पौधे बनाए ज सकते हैं। इसे भरपूर भोजन व पोषक तžवों वाली मिट्टी की आवश्यकता होती है। यदि आपने इसका पौधा गमले में लगाया हो तो हर वर्ष नहीं तो कम-से-कम दो वर्ष में खाद, मिट्टी को अवश्य बदल दें। लकड़ी के कोयले की राख, हड्डी का चूरा इसके लिए लाभदायक होता है। दक्षिणी अमेरिका के शुष्क प्रदेशों में इसके फूल खिलते तो हैं, जिसे ‘स्ट्री पार्वीफोलिया’ कहते हैं। इसके फूल काफी सुन्दर होते हैं।

फूल खिलते समय पौधे को पर्याप्त नमी की आवश्यकता होती है। पुष्प सज्जा में इसके पुष्प ही नहीं, पत्तों का उपयोग भी खूब होता है। जापानी पुष्प सज्जा ‘इकेबाना’ में इसके एकमात्र पुष्प से ही अत्यन्त प्रभावशाली प्रस्तुतियां बनाई जती हैं। वृक्ष के नीचे, जहां धूप-छाया मिली-जुली हो, इसके पौधे समूह में लगे अत्यन्त मनोहारी दृश्य प्रस्तुत करते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चिड़ियों जैसा बर्ड ऑफ पैराडाइज