DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आबंटित कोयला खानों पर काम कर रही है एनटीपीसी

आबंटित कोयला खानों पर काम कर रही है एनटीपीसी

बिजली फर्म एनटीपीसी ने रविवार को कहा कि सरकार द्वारा कैप्टिव इस्तेमाल के लिए आबंटित कोयला खानों के विकास पर कंपनी काम कर रही है और अंतरराष्ट्रीय मानकों को लागू करने पर भी उसे इन्हें विकसित करने में 6-7 साल का समय लगेगा।

एनटीपीसी का यह बयान ऐसे समय में आया है जब कोयला मंत्रालय ने बिजली मंत्रालय को पत्र लिखकर एनटीपीसी को आबंटित खानें वापस लेने की चेतावनी दी है। कोयला मंत्रालय ने इन खानों के विकास में विलंब का कारण बताते हुए ऐसा करने की चेतावनी दी है।

एनटीपीसी के चेयरमैन आरएस शर्मा ने बताया कि नहीं, हम कंपनी को आबंटित सभी पांच खानों का विकास कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि एक कोयला खान को विकसित करने में छह-सात साल का समय लगता है। शर्मा ने कहा कि हमें पहली खान 2005 में आबंटित की गई थी और सभी कोयला ब्लाकों पर काम चल रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आबंटित कोयला खानों पर काम कर रही है एनटीपीसी