DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मारफीन तस्करी में पांच और गिरफ्तार

अफीम फैक्ट्री के कर्मचारी अनिल उर्फ विधायक के जरिये मारफीन की तस्करी करने वाले पांच शातिरों को शहर कोतवाली पुलिस ने शनिवार की देर रात बड़ीबाग क्षेत्र से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के मुताबिक विधायक फैक्ट्री से मारफीन व अफीम की खेप बाहर निकालता था और इन पांचों को सौंपकर उनसे मुंहमांगी कीमत वसूलता था। गिरफ्तार तस्करों ने इस धंधे से जुड़े कई और लोगों के नाम बताये हैं।

गिरफ्तार किये गये तस्करों कौशल मिश्र निवासी मिश्रवलिया थाना करीमुद्दीनपुर, दिवाकर गुप्त निवासी नौकापुरा थाना कोतवाली, अखिलेश पांडेय निवासी विशुनपुर पिपरहीं थाना जंगीपुर, अमित वर्मा निवासी बड़ीबाग, शहर कोतवाली और उमेश गुप्त उर्फ गुड्डू निवासी आदर्श गांव थाना कोतवाली की निशानदेही पर पुलिस ने शनिवार की रात और रविवार को कई स्थानों पर दबिश दी, लेकिन अनिल उर्फ विधायक को नहीं पकड़ा जा सका।

इन पांचों ने विधायक का जो मोबाइल नम्बर बताया था उसे सर्विलांस पर लगाने से पता चला कि वह वाराणसी में है, लेकिन उसकी गिरफ्तारी के लिए जब तक कार्रवाई शुरू होती उसका लोकेशन बिहार में मिलने लगा। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि अनिल उर्फ विधायक ही अफीम फैक्ट्री से होने वाले तस्करी का मुख्य सूत्रधार है।

उल्लेखनीय है कि पिछले मंगलवार को वाराणसी एटीएस और स्थानीय पुलिस ने अफीम फैक्ट्री परिसर स्थित कर्मचारी आवास में छापेमारी कर सीआईएसएफ के चार जवानों और फैक्ट्री के एक कर्मचारी को गिरफ्तार किया था। इन लोगों के पास से लगभग तीन किलो मारफीन और 16 लाख रुपये बरामद हुए थे।

पूछताछ के दौरान पकड़े गये लोगों ने अपने कई साथियों का नाम पुलिस और एटीएस अधिकारियों को बताया था। उन लोगों ने भी बताया था कि फैक्ट्री का कर्मचारी अनिल उर्फ विधायक ही फैक्ट्री के अंदर से मारफीन व अफीम बाहर निकालता है तथा अपने खास साथियों के हाथों उसे बेचता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मारफीन तस्करी में पांच और गिरफ्तार