DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रास्ते में मालगाड़ी खड़ी कर लौट गया चालक

मुगलसराय से कानपुर जा रही मालगाड़ी को मुगलसराय से मिर्जापुर पहुंचने में ही 16 घंटे लग गए। ट्रेन को बीच के स्टेशनों पर इतनी देर-देर तक रोका गया कि थके चालक ने मिर्जापुर पहुंचने पर मालगाड़ी को यार्ड में खड़ी कर दिया और मुख्यालय लौट गया। चालक के अभाव में यह ट्रेन दूसरे दिन रविवार को भी यार्ड में खड़ी रही।
कोयला लदी एक मालगाड़ी शनिवार को पूर्वाह्न 11 बजे मुगलसराय से कानपुर के लिए रवाना हुई।

मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों को आगे बढ़ाने के चक्कर में यह मालगाड़ी बीच के स्टेशनों पर इतनी देर-देर तक रोकी गयी कि मिर्जापुर ही पहुंचने में उसे पूरे 16 घंटे लग गए। जबकि सामान्य स्थिति में मालगाड़ी को मुगलसराय से मिर्जापुर पहुंचने में डेढ़ घंटा लगता है। रेलकर्मियों के मुताबिक पहाड़ा स्टेशन पर पहुंचने से पहले ही चालक ने वाकी-टाकी से स्टेशन मास्टर को सूचना दे दी कि वह अब ट्रेन को आगे ले जाने की स्थिति में नहीं है।

स्टेशन मास्टर ने इसकी जानकारी कंट्रोल को दी तो कंट्रोलर ने चालक के मोबाइल पर बात कर उसे ट्रेन को मिर्जापुर तक लाने के लिए राजी कर लिया। तीन बजे भोर में मालगाड़ी मिर्जापुर पहुंची तो चालक ने ट्रेन को यार्ड में खड़ी कर दिया और केबिन लाक कर उसकी चाबी स्टेशन मास्टर को सौंप दी तथा मुख्यालय लौट गया। चालक के अभाव में यह मालगाड़ी रविवार को भी पूरे दिन यार्ड में खड़ी रही जिससे अन्य ट्रेनों के सुव्यवस्थित परिचालन में कर्मचारियों को परेशानी का सामना करना पड़ा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रास्ते में मालगाड़ी खड़ी कर लौट गया चालक