DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आजमगढ़ में दलित महिला से बलात्कार

बरदह थाना क्षेत्र के कुरथुआं गांव स्थित अपनी बहन के घर जा रही एक दलित महिला के साथ टाटा सूमो के मालिक व ड्राइवर ने शनिवार की रात बलात्कार किया और मुंह खोलने पर जान मारने की धमकी देते हुए फरार हो गये। पुलिस ने इस मामले में नामजद प्राथमिकी दर्ज की है और एक आरोपित को हिरासत में ले लिया है।
जौनपुर जिले के केराकत थाना क्षेत्र के सकरा गांव की दलित महिला शोभा पत्नी सुजीत (दोनों काल्पनिक नाम) अपनी एक साल की बेटी के साथ शनिवार की शाम को गौराबादशाहपुर बाजार से अपनी बड़ी बहन की ससुराल कुरूथुआं जाने के लिए बस से चली।

रात करीब साढ़े सात बजे बस कुरूथुआं गांव वाली सड़क से गुजरी, लेकिन अंधेरा होने से वह सही जगह नहीं उतर पायी। उसने कंडक्टर से जब कुरूथुआं के पास बस रोकने को कहा तब तक बस काफी आगे निकल चुकी थी। इसके बाद कंडक्टर ने कुरूथुआं गांव में रहने वाले सूमो चालक से मोबाइल से बात की और महिला को गांव तक छोड़ने को कहा। पांच मिनट में सूमो लेकर दो लोग आये और महिला को बैठाकर चल पड़े। भगवानपुर माइनर के पास दोनों ने गाड़ी रोक दी और महिला को जबरन झुरमुट में ले जाकर उसके साथ दुष्कर्म किया।

इसके बाद दोनों ने महिला को फिर सूमो में बैठाया और मुंह खोलने पर जान मारने की धमकी देते हुए कुरूथुआं गांव के पास सड़क पर छोड़कर फरार हो गये। पीड़िता रात में लगभग साढ़े नौ बजे अपनी बहन के घर पहुंची और आपबीती सुनायी। रविवार की सुबह गांव वाले मार्टीनगंज बाजार पहुंचे और उस बस कंडक्टर को धर दबोचा जिसने महिला को सूमो से भेजवाया था। कंडक्टर ने सूमो के मालिक व ड्राइवर का नाम-पता बताया तो पीड़िता बरदह थाने गयी और दुष्कर्मियों के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज करायी।

पुलिस का कहना है कि आरोपित जितेन्द्र यादव उर्फ मक्कन तथा रामजीत यादव दीदारगंज थाना क्षेत्र के निकासीपुर गांव के रहने वाले हैं। रामजीत की कुरूथुआं में ससुराल है और वह वहीं रहकर सूमो चलाता है। पुलिस ने जितेन्द्र यादव को हिरासत में ले लिया है जबकि मक्कन फरार है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आजमगढ़ में दलित महिला से बलात्कार