DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ग्रेनो की पावर कंपनी को विदेशों में बुलावा

भले ही चरमराई विद्युत आपूर्ति के लिए ग्रेटर नोएडा के लोग यहां की पावर सप्लाई कंपनी से एनपीसीएल से ऊब गए हो लेकिन विदेशों में इनकी पूछ बढ़ गई है। यहीं वजह है कि  एफ्रो एशिया एनीशिएटिव इन पावर्स के तहत आठ देशों के प्रतिनिधियों ने ग्रेटर नोएडा का दौरा करने के बाद पावर सप्लाई सिस्टम से खुश होकर इनके अधिकारियों को अपने यहां आने का न्यौता दे डाला।

एफ्रो एशिया एनीशिएटिव इन पावर्स का कोर्डिनेशन कर रही रुरल इलेक्ट्रिफिकेशन कोरपोरेशन ने नाइजीरिया, जाम्बिया, घाना, इजिप्ट, म्यांमार,वियतनाम,ओमान व मॉरीशस से आए प्रतिनिधियों को एनपीसीएल की पावर सप्लाई की अधिनुकतम तकनीकियों से अवगत कराया। विदेशी मेहमानों की टीम ने ग्रेटर नोएडा के पावर स्टेशनों का जायजा लेने के बाद अल्फा वन स्थित कस्टमर केयर सेंटर व अल्फा 2,एच ब्लैक स्थित एनपीसीएल के हेड ऑफिस पहुंची। विदेशी मेहमान कस्टमर केयर सेंटर में बिल पेमेंट व कम्पलेन सेल आदि की व्यवस्था देखने के बाद हेड आफिस पहुंच वहां के सीनियर अफसरों से रू-बरू हुए।

एनपीसीएल के मैनेजर आपरेशन राजीव गोयल के अनुसार विदेशी मेहमानों को आधुनिकतम डिजाइन की सप्लाई यूनिट में लगे ब्रेकर,ट्रांसफर,स्काडा,जीआईएस व एएमआर मीटर पसंद आए। वियतनाम के पावर सेक्रेटरी ही मी नेह ने स्काडा विद्युत उपकरण के जरिए सभी 23 पावर स्टेशनों से 10 मेगावाट की हो रही पावर सप्लाई की जानकारी ली। वियतनामी पावर सेक्रेटरी को स्काडा से पावर आपरेशन का सिस्टम बेहद पसंद आया।

वहीं भारतीय मूल के घाना के पावर सेकेट्ररी राजीव सारा व इजिप्ट के पावर सेक्रेटरी अब्दुल्ला दोनों ने जीआईएस(ज्योग्राफिक्स इंफोरमेशन सिस्टम)का बारिकी से अध्ययन किया। आठों देशों के पावर सेक्रेटरी ने एनपीसीएल की पावर सप्लाई सिस्टम की जानकारी लेने के बाद अधिकारियों को अपने यहां आने का न्यौता दिया। रुरल इलेक्ट्रिफिकेशन कोरपोरेशन के अनुसार विदेशी प्रतिनिधि मंडल के बुलावे पर संभवत: दिसम्बर के दूसरे सप्ताह तक एनपीसीएल के अधिकारियों का उनके यहां दौरा हो सकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ग्रेनो की पावर कंपनी को विदेशों में बुलावा