DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

‘फिर मिलेंगे’, ऐलान के साथ डॉक्टर रुखसत

पुष्पांजलि क्रोसले हॉस्पिटल और आईएमए कॉलेज ऑफ जनरल प्रैक्टिशनर्स की पहली वार्षिक कांफ्रेंस का रविवार को समापन हो गया। कांफ्रेंस में आए डॉक्टरों ने अगले साल होने वाली कांफ्रेंस में फिर से आने का वादा किया। इस दौरान स्पेशलिस्टों ने जनरल प्रैक्टिशनर्स को क्लीनिकल प्रैक्टिस में आने वाली समस्याओं को दूर करने के गुर सिखाए।

साहिबाबाद के होटल कंट्री इन में चल रही दो दिवसीय नॉर्थ इंडिया रीजनल कांफ्रेंस के अंतिम दिन रविवार को आईएमए के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. अशोक अघाव ने स्पेशलिस्ट डॉक्टरों से जनरल डॉक्टरों को रोगों के निदान में हो नए प्रयोगों और प्रणालियों से अवगत कराने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि ऐसा करने से रोगियों का भला होगा। पुष्पांजलि क्रोसले अस्पताल के अतुल गंडोत्र और गौरव पांडे ने बताया कि कांफ्रेंस के अंतिम दिन एक्यूट एब्डोमन पर डॉ. एके मित्तल, डॉ. जेएस लांबा, डॉ. अजय जैन, डॉ. परविंदर लाल, डॉ. योगेश झांब और डॉ. हेमेंद्र सिंह ने प्रकाश डाला।

नेवर ड्रग इन कार्डियोलॉजी पर डॉ. धीरेंद्र सिंघानिया, कैंसर पर डॉ. एके गोयल, डॉ. दिनेश सिंह, डॉ. संदीप अग्रवाल, डॉ. मलय नंदी, डॉ. राजीव अग्रवाल ने नए गुर सिखाए। कैंसर पर डॉ. कनिका गुप्ता, डॉ. उमंग मित्तल, डॉ. गोपाल शर्मा आदि ने ग्रुप डिस्कशन में भाग लिया। कांफ्रेंस में रोगियों की सहायता के लिए जनरल प्रैक्टिशनर्स को बताया कि किस समय रोगी को स्पेशलिस्ट के पास रेफर करना चाहिए। पुष्पांजलि अस्पताल के डॉ. विनय अग्रवाल ने अगले साल फिर से क्लीनिकल प्रैक्टिस पर राष्ट्रीय कांफ्रेंस करने का ऐलान किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:‘फिर मिलेंगे’, ऐलान के साथ डॉक्टर रुखसत