DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सकारात्मक खबरों से शेयर बाजारों में दिखी तेजी

सकारात्मक खबरों से शेयर बाजारों में दिखी तेजी

विनिवेश की प्रक्रिया को आगे बढ़ाने और वैश्विक अर्थव्यवस्था में सुधार के संकेत स्पष्ट होने तक आर्थिक प्रोत्साहन पैकेज जारी रखने के सरकार के फैसले के बाद 13 नवंबर को समाप्त हुए सप्ताह के दौरान देश भर के शेयर बजारों में तेजी का रूख रहा और सेंसेक्स लाभ दर्शाते बंद हुए। विशेषज्ञों के अनुसार इस सप्ताह भी इसमें तेजी रहने की संभावना है।

वैश्विक पहलुओं ने भी नवंबर में अभी तक सेंसेक्स में लगभग 10 प्रतिशत की तेजी लाने में मदद की है। यह रूख अगले सप्ताह भी बना रह सकता है। विभिन्न देशों की मुद्राओं की तुलना में डॉलर के कमजोर होने के बाद निवेशकों द्वारा जोखिम वाली आस्तियों का रूख कर लेने के कारण भी इस तेजी को बल मिल सकता है।

भारत का औद्योगिक उत्पादन आंकड़ा भी सितंबर, 2009 में बढ़कर 9.1 प्रतिशत हो गया, जिसने बाजार की तेजी लाने में में मदद की। समीक्षाधीन सप्ताह के दौरान बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों पर आधारित सेंसेक्स 690.55 अंकों की तेजी के साथ पिछले सप्ताहांत के मुकाबले इस सप्ताहांत 16,848.83 अंक पर बंद हुआ।
   
नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी विगत सप्ताहांत के मुकाबले 202.80 अंकों की तेजी के साथ 4,998.95 अंक पर बंद हुआ।

बाजार में मुख्य निवेशक विदेशी संस्थागत निवेशक रहे जिन्होंने नवंबर में 77.42 करोड़ अमेरिकी डॉलर के शेयर खरीदे और इस प्रकार से 2009 के कैलेंडर वर्ष में कुल खरीद स्तर को 14.8 अरब डालर तक ले गये हैं।

सरकार के विनिवेश के संबंध में किए गए फैसले से बाजार ताकतों का हौसला बढ़ता दिखा। इसके साथ-साथ सरकार ने वित्तीय प्रोत्साहन पैकेज को क्रमिक ढंग से खत्म करने की योजना का भी खुलासा किया है।
   
सप्ताह के दौरान कारोबार के आकार में पर्याप्त वृद्धि देखने को मिली। बीएसई और एनएसई में कारोबार का आकार क्रमश: 29,683 करोड़ रूपए और 85,961 करोड़ रूपए हो गया, जो पहले 22,255 करोड़ रूपए और 67,284 करोड़ रूपए था।

इस सप्ताह सेंसेक्स की तेजी में रिलायंस इंडस्ट्रीज (आरआईएल) के शेयरों का भारी योगदान रहा जिसके शेयर में 8.17 प्रतिशत की तेजी आई। तेजी का कारण आरआईएल द्वारा गुजरात के निकट कैम्बे घाटी में तेल खोज की पहली घोषणा थी।
    
इसके अलावा आईटी शेयरों की भी भारी मांग रही। इन्फोसिस में जहां 6.36 प्रतिशत की तेजी आई वहीं टीसीएस में 7.98 प्रतिशत और विप्रो में 5.63 प्रतिशत की तेजी आई।
    
वित्तीय क्षेत्र में शीघ्र सुधार की उम्मीद के कारण भारत के निजी क्षेत्र के विशालतम बैंक आईसीआईसीआई के शेयर में 7.15 प्रतिशत की तेजी आई।
    
कलकत्ता शेयर बाजार में समीक्षाधीन सप्ताह के दौरान लिवाली का भरपूर समर्थन मिलने से सूचकांक में लगभग 1,600 अंकों की तेजी आई। 40 शेयरों पर आधारित सेंसेक्स समीक्षाधीन अवधि में 1,633.16 अंकों की तेजी के साथ सप्ताहांत में 7,512.27 अंकों पर बंद हुआ।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सकारात्मक खबरों से शेयर बाजारों में दिखी तेजी