DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिजली विभाग के सीयूजी नंबरों से हटेंगे फिल्मी टोन-भजन

‘...बगल वाली जान मारे ली’, ‘मन क्यूं बहका रे बहका आधी रात को..’, ‘कृष्णा-कृष्णा, आए कृष्णा जगमग हुआ रे अंगना’, ‘अजनबी तुम जाने-पहचाने से लगते हो’, ‘करती हूं तुम्हारा व्रत मैं स्वीकार करो मां’, ‘जय रघुनंदन जय सियाराम’, वगैरह-वगैरह। चौकिए मत, यह किसी नई फिल्म का रीमिक्स गाना नहीं, बल्कि बिजली विभाग के अभियंताओं व एसएसओ (सब स्टेशन अफसर) के सीयूजी नंबरों को मिलाने पर कॉलर ट्यून के बतौर सुनाई देने वाली धुनें हैं। उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन के सीएमडी नवनीत सहगल ने सीयूजी नंबरों पर कॉलर ट्यून के इस्तेमाल को गंभीरता से लेते हुए इसे तत्काल हटाने का निर्देश दिया है।


समस्त प्रबंध निदेशकों को भेजे गए फैक्स निर्देश में सीएमडी ने कहा गया है कि अधिकांश अफसरों से बातचीत करने अथवा जानकारी लेने से पहले मोबाइल मिलाते ही भजन या गाने सुनने को मिलते हैं। कहा कि इस तरह के अनावश्यक कॉलर ट्यून का भुगतान भी विभाग को ही करना होता है। उन्होंने सीयूजी नंबरों से कॉलर ट्यून को तत्काल हटाने का कड़ा निर्देश दिया है। मोबाइल स्विच ऑफ मिलने का जिक्र भी फैक्स निर्देश में है। उल्लेख है कि किसी दशा में मोबाइलों का स्विच ऑफ न हो। मोबाइल पर आने वाले प्रत्येक कॉल रिसीव किये जाए। चेतावनी भी दी है कि यदि किसी अभियंता या उपकेन्द्र के मोबाइल पर कॉलर ट्यून सुनी गई या स्विच ऑफ मिला तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

सीयूजी नंबर की उपयोगिता
शासन ने बेहतर कामकाज और विकास के लिए समस्त सरकारी विभागों के अफसरों को सीयूजी नंबर उपलब्ध कराया है। सीयूजी नंबरों पर होने वाला व्यय शासन ही वहन करता है। बिजली विभाग के अभियंता स्तर के अफसरों एवं विद्युत उपकेन्द्रों पर शासन की मंशा के अनुरूप ही सीयूजी नंबर उपलब्ध कराये गये हैं।

कॉलर ट्यून लगाना गलत
शासन तक शिकायत पहुंची कि अफसर सीयूजी नंबरों (मोबाइलों) के प्रयोग में मनमानी करते हैं और कॉलर ट्यून के रुप में तरह-तरह फिल्मी गीत या भजन लगा रखे हैं। सीएमडी के फैक्स निर्देश में उल्लेख है कि सीयूजी नंबर में कॉलर ट्यून लगाना शासन की मंशा का मजाक है।

-----------------------------
पूर्वाचल विद्युत वितरण निगम लि. (डिस्काम-वाराणसी) के 1658 अभियंताओं-उपकेन्द्रों को सीयूजी नंबर उपलब्ध कराये गये हैं। कॉलर ट्यून का इस्तेमाल करने से विभाग पर अतिरिक्त आर्थिक बोझ भी पड़ता है।
जनसम्पर्क प्रभारी राकेश सिन्हा

सीयूजी नंबरों के कॉलर ट्यून हटाने के लिए बीएसएनएल को लिखा गया है। सीयूजी नंबर प्रयोग करने वाले अभियंताओं-एसएसओ को भी तत्काल कॉलर ट्यून हटाने का निर्देश दिया गया है।
गोपाल सिंह , अधिशासी अभियंता (मुख्यालय)

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बिजली विभाग के सीयूजी नंबरों से हटेंगे फिल्मी टोन-भजन