DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मालियों का मुद्दा रहेगा एजेंडा में

लगभग सवा साल पहले स्थगित नगर निगम बोर्ड की बैठक 16 नंवबर को प्रस्तावित है। इसकी तैयारी लगभग पूरी कर ली गई है। अगर यह बैठक बगैर हो-हल्ले के संपन्न हो गई, तो भी ज्यादा खुश होने की जरूरत नहीं क्योंकि, इस बार बोर्ड बैठक में कोई खास नया प्रस्ताव नहीं रखा जा रहा है।

पिछले साल के स्थगित एजेंडे को ही प्रमुख रूप से स्वीकृति मिलनी है। हां, पांच दिन से चल रहे निगम के ठेके के मालियों की वेतन भत्ते संबंधी समस्या को जरूर महापौर की ओर से विशेष रूप से रखा जाएगा। महापौर दमयंती गोयल ने बताया कि बैठक जरूर होगी। लेकिन बैठक में पुराने उन्हीं प्रस्तावों पर मुहर लगनी है, जिनकी पुष्टि कार्यकारिणी बैठक में हो चुकी है। उन्होंने माना कि कमरतोड़ मंहगाई के बावजूद निगम के ठेके के मालियों के भत्ते नही बढ़ाए गए।

मालियों का एक प्रतिनिधिमंडल उनसे मिला, तथा भत्ते को 88 रुपए रोजाना से बढ़ाकर सौ रुपए करने की मांग गई, जो कि जायज है। महापौर ने कहा कि हांलांकि निगम अभी भत्ते बढ़ाने की स्थिति में नहीं है, लेकिन फिर भी बोर्ड सदस्यों के बीच इस मुद्दे को रखेंगे। स्वीक़ृति मिलने के बाद फिर सोचा जाएगा। बता दें कि पिछले अगस्त के बाद से कई मर्तबा निगम बोर्ड की बैठक करने की योजना बनाई गई, लेकिन किन्हीं न किन्ही कारणों से हर बार बैठक को कैंसिल करना पड़ा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मालियों का मुद्दा रहेगा एजेंडा में