DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पोलियो दवा पिलाने घर-घर जाएगी बी-टीम

पल्स पोलियो अभियान के बाद अब बाकी रह गए बच्चों को दवा पिलाने का काम बी-टीम करेगी। पांच दिन तक चले डोर-टू-डोर अभियान के समाप्त होने के बाद सभी यूनिट अपने क्षेत्र में एक्स घरों में शनिवार को बी-टीम ने घर-घर जाकर बच्चों को दवा पिलाने का कार्य किया। 

सीएमओ डॉ. ए.के.धवन के मुताबिक आठ नवंबर को पल्स पोलियो दिवस के रूप में मनाया गया। इस दिन बूथ बनाकर शून्य से पांच साल तक के बच्चों को दवा पिलाई गई। इस दिन करीब साढ़े चार लाख बच्चों ने दवा पी। इसको बाद 9 नवंबर से 13 नवंबर तक डोर-टू-डोर अभियान चलाया गया। स्वास्थ्य विभाग का दावा है कि अभियान के तहत दस लाख बच्चों को दवा पिलाने का लक्षय रखा गया था। जिसमें बूथ व डोर-टू-डोर अभियान के तहत 90 फीसदी तक लक्ष्य पूर्ति कर ली गई। अब बाकी बचे हुए घरों के लिए विशेष टीम (जिसको बी-टीम नाम दिया गया है) घर-घर जाकर दवा पिलाने का काम करेगी।

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. चंद्रशेखर के मुताबिक शनिवार व रविवार को छूटे हुए घरों में बी-टीम जाकर बच्चों को पोलियो दवा पिलाने का काम करेंगी। इसके उद्देश्य शत प्रतिशत बच्चों को दवा पिलाना है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पोलियो दवा पिलाने घर-घर जाएगी बी-टीम