DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राष्ट्रपति ने किया अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेले का उद्घाटन

भारत ने इंसान रहित चंद्रयान चांद पर भेजा था। अब इंसान सहित यान को चांद पर भेजने का अरमान है। पूरी आशा है कि भविष्य में यह अभियान भी पूरा होगा। तकनीकी विकास और अंतरिक्ष विज्ञान में राष्ट्र के बढ़ते कदम का बखान करते हुए राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल ने यह बातें कहीं। राष्ट्रपति ने शनिवार की सुबह प्रगति मैदान में 29वें अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेला-2009 (14 से 27 नंवबर) का उद्घाटन किया। उन्होंने कहा कि पंडित जवाहरलाल नेहरू की जयंती पर शुरू हुआ मेला देश की प्रगति को दुनिया के सामने प्रस्तुत करेगा।

राष्ट्रपति ने कहा कि दुनिया में भारत के इस मेले ने महत्त्वपूर्ण स्थान बना लिया है। करीब 25 लाख दर्शकों के आने की संभावना इस बार है। उन्होंने आर्थिक स्थिति पर कहा कि दुनिया में जब मंदी छाई थी तो भी भारत ने अच्छा प्रदर्शन किया। दुनिया भर की कंपनियां भारत की ओर आकर्षित हो रही हैं। इससे हमारी जिम्मेदारी और बढ़ जाती है। केन्द्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री आनन्द शर्मा ने कहा कि दिल्ली में अंतर्राष्ट्रीय स्तर का सम्मेलन केन्द्र बनाया जाएगा। अर्थव्यवस्था तेजी से गति पकड़ रही है और अगले चार-पांच वर्षो में निर्यात को बढ़ाने पर ध्यान दिया जाएगा। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल ने प्रदेश की विशेषताओं का बखान किया।

उन्होंने कहा कि उत्तराखंड अध्यात्म, योग और जड़ी बूटियों का प्रदेश है। यदि इन क्षेत्रों में विशेष ध्यान दिया जाए तो उत्तराखंड दुनिया में एक खास पहचान बना सकता है। उन्होंने राज्य के लिए औद्योगिक पैकेज को 2020 तक बढ़ाने की जरूरत भी जताई। मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने कहा कि दस साल में दिल्ली को विश्व स्तरीय बनाया जाएगा। इंडिया ट्रेड प्रमोशन आर्गनाइजेशन के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक डॉ. एससी पाणी ने उद्घाटन समारोह में उपस्थित अतिथियों का स्वागत करते हुए आभारा जाताया। अंत में हैप्पी स्कूल, दरियागंज के बच्चों ने गुब्बारे उड़ाए और चाचा नेहरू का याद किया। सभी बच्चाे चूड़ीदार पैजामा-कुर्ता, सदरी और नेहरू टोपी पहने हुए थे

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:राष्ट्रपति ने किया अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेले का उद्घाटन