DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

करना होगा मेडिकल कॉलेज में दाखिले के लिए लंबा इतंजार

ईएसआई कारपोरेशन के प्रस्तावित फरीदाबाद मेडिकल कालेज अस्पताल में दाखिला के लिए कम से कम तीन वर्ष और इंतजार करना पड़ सकता है। स्टेट एप्रेजल कमेटी ने केवल इसके भवन के निर्माण के लिए दो वर्ष का समय लिया है। जबकि मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया (एमसीआई) के नाम्र्स को पूरा करने में भी कम परेशानी नहीं आएगी। पूर्व में प्रस्तावित मेडिकल कॉलेज में 2010 से नया शैक्षणि सत्र शुरू होने का दावा किया गया था।

पढ़ाई शुरू कराने की जिम्मेदारी ईएसआई कॉरपोरेशन के स्टेट मेडिकल कमिशनर डॉ. सरिता डोगरा को सौंपी गई है। वो मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया, राज्य व केंद्र सरकार और कॉरपोरेशन के बीच तालमेल का काम भी देखेंगी। स्टेट एप्रेजल कमेटी की 11 सदस्यीय टीम ने कालेज की नौ मंजिला इमारत दो वर्ष में तैयार कराने का दावा किया है। यह ऐलान पंचकूला में गुरुवार को होने वाली बैठक में किया गया है। इसमें मौजूद एक अधिकारी का कहना है कि मेडिकल कालेज के भवन निर्माण के बाद कालेज में दाखिला तुरंत करा पाना मुमकिन नहीं। भवन निर्माण के बाद मेडिकल कॉउंसिल ऑफ इंडिया के नार्मस को  पूरा करने में भी समय लगेगा।
  
27 फरवरी 09 को तत्तकालीन केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्री ऑस्कर फर्नाडिस ने प्रस्तावि कॉलेज भवन का लान्यास किया था। उसी दौरान वर्ष 2010 से सत्र शुरु करने की घोषणा की गई थी। लेकिन इसका नक्शा तैयार करने में ही तकरीबन आठ महीना लग गया।

स्टेट मेडिकल कमिशनर डॉ. सरिता डोगरा: मेडिकल कालेज भवन का निर्माण दो वर्ष में पूरा करने का लक्षय रखा गया है। मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया के नार्मस पूरा करने के बाद ही दाखिला की प्रकिया शुरु होगी। वर्ष 2011-12 में सत्र शुरु होने की उम्मीद है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:करना होगा मेडिकल कॉलेज में दाखिले के लिए लंबा इतंजार