DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नौकरीपेशा की रुटीन बन गई मेट्रो

दूसरे ही दिन स्टेशनों की पार्किग भर गई कार-बाइक से
दो दिनों के यात्राियों में 80 फीसदी ऑफिस जाने वाले
बैग-टिफिन वालों को देख डीएमआरसी के अरमान पूरे
कल कम निकलेंगे ऑफिस वाले, घूमेंने निकलेंगे ज्यादा

डीएमआरसी ने अरमान तो जरूर पाले होंगे, लेकिन ऐसा सोचा नहीं होगा कि दो दिन के अंदर मेट्रो नोएडा वालों की रुटीन में शामिल हो जाएगी। बैग-टिफिन लेकर निकले नौकरीपेशा लोगों को देखकर तो यही कहा जा सकता है कि डीएमआरसी के अरमान पूरे हो गए है। स्टेशनों की पार्किग भरने व आसपास के घरों में कार व बाइकों के जमावड़े को देखकर डीएमआरसी प्रसन्न है। वैसे भी 13 और 14 नवंबर को सुबह पहली ट्रेन से 11 बजे तक निकली और आयी हर ट्रेन में तकरीबन 80 फीसदी लोग देखने से ही नौकरीपेशा लग रहे थे। छुट्टी के दिन रविवार को इनकी भीड़ कम होगी तो ट्रेड फेयर व तफरीह के लिए निकलने वाले नोएडा के लोग इस कमी को पूरी कर देंगे।


शुक्रवार-शनिवार को सुबह से ही नोएडा के सभी छह स्टेशनों पर ड्यूटी जाने वालों को देखा जाने लगा। सबसे ज्यादा लोग सिटी सेंटर (सेक्टर 32) स्टेशन पर देखे गए। सेक्टर 32 के आसपास के आवासीय सेक्टरों 25, 39, 41, 51, 52, 71 से लोग सिटी सेंटर स्टेशन पहुंचे और मेट्रो से दफ्तर निकले। भीड़भाड़ के बीच हर कार (कोच) में तकरीबन 70 प्रतिशत ऐसे लोग नजर आए जो ऑफिस डय़ूटी पर निकले थे। राकेश बहादुर, जतिन, राकेश तोमर समेत दजर्नों ने बातचीत में कहा कि उन्होंने डय़ूटी जाने के लिए शुक्रवार को मेट्रो का ट्रायल लिया है और अब यह उनकी रुटीन में शामिल है।


दोनों ही दिन सुबह से 12 बजे तक जो भीड़ दिखी, उनमें दूसरे नंबर पर विद्यार्थी थे। अन्य मेट्रो रूट की तरह नोएडा में पहले ही दिन कई छात्रों को कॉपी-किताब उलटते भी देखा गया। विद्यार्थियों में लड़कियों की संख्या भी ठीकठाक थी। हरेक की नजर में मेट्रो बड़ी राहत लेकर आयी है और ऑफिस-कॉलेज आदि जाने-आने वालों को बहुत आराम हो गया है। मेट्रो स्टेशनों पर डीएमआरसीकर्मियों ने इस भीड़ पर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि रविवार को ट्रेड फेयर व परिवार वालों के साथ मेट्रो से घूमने निकले लोग मेट्रो की रौनक बढ़ाएंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नौकरीपेशा की रुटीन बन गई मेट्रो