DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बद्रीनाथ के कपाट बंद करने की तैयारी

करोड़ों हिन्दुओं की आस्था के सर्वोच्च प्रतीक भगवान विष्णु के धाम बद्रीनाथ मंदिर के कपाट को शीतकाल के लिए बंद करने हेतु मंदिर परिसर में आवश्यक तैयारी शुरू कर दी गई है।

बद्रीनाथ केदारनाथ मंदिर समिति के अध्यक्ष अनुसूया प्रसाद भट्ट ने शनिवार को बताया कि बद्रीनाथ के कपाट आगामी 17 नवंबर को अपराहन तीन बजकर चालीस मिनट पर बंद किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि मंदिर बंद करने के पूर्व मंदिर के मुख्य पुजारी रावल महाराज स्त्री के वेश में लक्ष्मी जी की मूर्ति को गर्भगृह में विराजित करेंगे। इसके बाद ही मंदिर के कपाट को बंद किया जाएगा।

भट्ट ने बताया कि मंदिर के कपाट को बंद करने के लिए धार्मिक रीति-रिवाज शुरू कर दिए गए हैं। पूरे मंदिर प्रांगण की सफाई और यज्ञ भी किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि आगामी 16 तारीख को सबसे पहले विधि विधान से गणेश जी और उंकालेश्वर के मंदिरों को बंद किया जाएगा और उसके बाद 17 तारीख को गर्भगृह में स्थित उद्धव जी की मूर्ति को मुख्य पुजारी रावल जी बाहर लेकर आएंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बद्रीनाथ के कपाट बंद करने की तैयारी