DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सभी मुख्यालयों में बनेंगे बाल-भवनः नीतीश

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्य के सभी प्रमण्डलीय मुख्यालयों में बाल भवन के निर्माण की घोषणा करते हुए कहा कि राज्य के बच्चों में असाधारण प्रतिभा है। यही गारंटी देता है कि बिहार का अतीत जितना गौरवशाली था, भविष्य भी उतना ही उज्जवल होगा।

नीतीश ने शनिवार को यहां बाल दिवस के अवसर पर बाल भवन किलकारी की पहली वर्षगांठ पर आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि बच्चों में छिपी हर तरह की प्रतिभा को उभारने और तरह-तरह की रचानात्मक गतिविधियों में उनकी उर्जा का इस्तेमाल करने के लिए राज्य के सभी प्रमण्डलीय मुख्यालयों में बाल भवन का निर्माण कराया जाएगा। उन्होंने कहा कि गत वर्ष बाल भवन किलकारी का शिलान्यास किया गया था, जो 4.31 करोड़ रुपए की लागत से निर्माणाधीन है। इसे ज्यादा उपयोगी और बेहतर बनाने के लिए आवश्यकतानुसार और भी निधि उपलब्ध कराई जाएगी।

मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में उपस्थित मानव संसाधन विकास विभाग के प्रधान सचिव अंजनी कुमार सिंह को बाल भवन के निर्माण कार्य में तेजी लाने का सुझाव देते हुए विश्वास व्यक्त किया कि अगले साल बाल दिवस समारोह का आयोजन उस नवनिर्मित भवन में ही होगा। उन्होंने कहा कि बाल भवन में विविध प्रकार की गतिवधियों- लेखन, वक्तृत्व, नाटक, गायन, वादन, नृत्य, चित्रकला एंव खेल कूद आदि का संचालन किया जाएगा। इससे बच्चों में छिपी विविध प्रकार की प्रतिभाओं को उभारने और विकसित करने का मौका मिले तथा वे अपना और अपने राज्य एवं राष्ट्र का नाम रौशन कर सके।

उन्होंने युवा आबादी को अपनी सबसे बड़ी पूंजी और ताकत बताया और कहा कि यदि सरकार बच्चों को समुचित तरीके से शिक्षित प्रशिक्षित हुनरमंद और स्वस्थ रखने का इंतजाम कर दें, तो हमारे युवाओं का दुनिया में कोई जवाब नहीं होगा।

इस अवसर पर पंडित जवाहरलाल नेहरू के चित्र पर माल्यार्पण करने के बाद मुख्यमंत्री ने बच्चों द्वारा संपादित पुस्तिका धमाचौकडी़ का लोकार्पण किया। मोबाइल लाइब्रेरी वैन और बाल बैंक का भी लोकार्पण किया तथा उनकी चाभियां संबंधित बच्चे को सौंपी। मुख्यमंत्री ने कहा कि बाल बैंक में प्रत्येक बच्चे के नाम से खोले जाने वाले खाते के लिए राज्य सरकार की ओर से भी पचास रुपए दिए जाएंगे। इससे बच्चों में कम खर्च में काम चलाने और बचत करने की प्रवृति बढे़गी।

उन्होंने बाल भवन किलकारी के बच्चों के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष से पांच लाख रुपए की राशि का चेक भी बाल भवन की निदेशिका ज्योति परिहार को प्रदान किया। मुख्यमंत्री ने बाल भवन की विभिन्न गतिविधियों में प्रथम एवं द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाले बच्चों को क्रमशः 11,000 5,000 रुपए की प्रोत्साहन राशि के साथ आठ बच्चों को बालश्री का पुरस्कार प्रदान किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सभी मुख्यालयों में बनेंगे बाल-भवनः नीतीश