DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मछली मारने को मना किया तो भिड़ गए उपद्रवी

स्थानीय प्राचीन श्रीनाथ सरोवर (तालाब) से गुरुवार की रात चोरी-छिपे मछली मार रहे लोगों का विरोध करने पर इन दबंगों ने न सिर्फ मठ पर पथराव किया, बल्कि महंत को गालियां भी दीं।

पथराव के चलते मठ के गेट पर लगीं सोडियम लाइटों के साथ नगर पालिका की ओर से लगाई गईं लाइटें भी क्षतिग्रस्त हो गईं। इस दौरान एक युवक को पकड़ा भी गया था, लेकिन वह चकमा देकर भाग निकला। उसके अन्य साथी जाल व मछली छोड़कर भाग गए जिसे पुलिस ने कब्जे में ले लिया है।

मठ के महंत आनंद गिरि महाराज ने बताया कि तालाब में जाल डालकर मछली मारने की जानकारी उन्हें रात में लगभग एक बजे हुई तो उन्होंने मठ में रहने वाले दो युवकों को जगाकर तालाब की ओर भेजा। युवकों को देखते ही मछली मार रहे शरारती तत्व जाल व कुछ मछली छोड़कर वहां से सरक गए, लेकिन एक युवक पकड़ा गया था, जो पानी पीने के बहाने भाग खड़ा हुआ। कुछ ही देर बाद मछली मारने वाले शरारती तत्व मठ के मुख्य गेट के पास आए और महंत को गाली देते हुए ईंट-पत्थर चलाने लगे। उपद्रवियों ने मंदिर गेट पर लगी सोडियम लाइट व आसपास लगी अन्य लाइटों को तोड़ दिया तथा तारों को नोच ले गए।

इससे पहले भी कई बार चोरी से मछली मारने की घटना हो चुकी है, लेकिन पुलिस कभी कोई कार्रवाई नहीं करती जिससे श्रीनाथ मठ के भक्तों में काफी आक्रोश है। मठ के महंत ने अफसोस के साथ कहा कि पुलिस यदि ऐसे ही निष्क्रिय बनी रही तो एक दिन उनकी हत्या भी कर दी जाएगी। उन्होंने आरोप लगाया कि कई बार सूचना देने के बावजूद पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। उन्होंने कहा कि अराजक तत्व उन्हें धमकी भी देते रहते हैं, क्योंकि वे गलत कार्यों का विरोध करते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मछली मारने को मना किया तो भिड़ गए उपद्रवी