DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तुम मिले

तुम मिले

सितारे: इमरान हाशमी, सोहा अली खान और सचिन खेड़ेकर
निर्माता: मुकेश भट्ट/सोनी म्यूजिक और विशेष फिल्म्स
निर्देशक: कुणाल देशमुख
संगीत: प्रीतम चक्रवर्ती

कहानी:  अली (इमरान हाशमी) और संजना (सोहा अली खान) मुंबई में रहते हैं। दोनों लिव-इन-रिलेशनशिप के तहत अपना जीवन बिता रहे हैं। एक अर्बन कपल होने की सारी अच्छाई तो दोनों में हैं, लेकिन इस लिव-इन-रिलेशनशिप में दोनों कहीं न कहीं अपनी जिम्मेदारियों को अनदेखा-सा करने लग जाते हैं। जब रिश्तों पर बोझ बढ़ने लगता है तो दोनों को वो सारी पुरानी बातें याद आने लगती हैं, जब दोनों ने एक-दूसरे को पसंद करना शुरू किया था।

कभी खुशी और कभी गम के बीच एक दिन दोनों दो अलग-अलग राहों पर एक भयंकर बाढ़ में फंस जाते हैं। मुंबई की ऐतिहासिक घटनाओं में शामिल बारिश के बाद आई यह बाढ़ अली और संजना के लिए भी एक बुरी सौगात की तरह आती है। यह वो पल होता है, जब दोनों को एक-दूसरे की याद आती है। अली और संजना किसी भी तरह इस बाढ़ से निजात पाना चाहते हैं, लेकिन यह इतना भी आसान नहीं होता।
 
निर्देशन:
भट्ट कैंप के साथ ‘जन्नत’ के बाद कुणाल देशमुख की यह दूसरी फिल्म है। इस फिल्म को 26 जुलाई, 2005 में मुंबई में आई भयंकर बाढ़ के साथ कुछ ज्यादा ही बढ़ा-चढ़ा कर पेश किया गया है, जिसकी वजह से निर्देशक का सारा ध्यान फिल्म के दो मुख्य पात्रों के आपसी झंझावात से हट कर बाढ़ की तरफ ज्यादा दिखता है। पर कुणाल ने स्पेशल इफेक्ट्स की मदद के बावजूद मुंबई जैसे महानगर में बारिश और बाढ़ के असर को पुख्ता तरीके से पेश करने में कई जगह चूक कर दी है। दर्शक जहां मूसलाधार बारिश के दृश्यों के साथ जुड़ने की कोशिश करते हैं तो फ्लैशबैक आ जाता है। 

अभिनय: इमरान हाशमी चाह कर भी सीरियल किसर वाली इमेज से छुटकारा नहीं पा सकते, इसलिए हर फिल्म में उनके अभिनय पर नजर कम जाती है। फिर भी उन्होंने कई दृश्यों में काफी अच्छी एक्टिंग की है। सोहा अली खान भी कुछेक सीन्स में ही अच्छी लगी हैं।
 
गीत-संगीत: प्रीतम चक्रवर्ती ने एक बार फिर अच्छा संगीत दिया है। ‘तुम मिले’ जैसे टाइटल ट्रैक के साथ-साथ ‘दिल की इबादत’ सरीखे ट्रैक्स भी काफी अच्छे बन पड़े हैं।

क्या है खास: मूसलाधार बारिश के साथ शहर में लगे ट्रैफिक जाम का फिल्मांकन और बाढ़ के कुछ दृश्य।
क्या है बकवास: बाढ़ की त्रासदी कई जगह बेमानी-सी लगती है।
पंचलाइन: भट्ट कैंप ने इस फिल्म को काफी बढ़ा-चढ़ा कर पेश किया है, जो एक कपल की प्रेम कहानी से मेल कम खाता है।       

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:तुम मिले