DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आखिरी तिमाही से बढ़ेगा निर्यात : आनंद शर्मा

आखिरी तिमाही से बढ़ेगा निर्यात : आनंद शर्मा

वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री आनंद शर्मा ने भरोसा जताया है कि पिछले साल अक्टूबर के बाद से लगातार नीचे आ रहा देश का निर्यात चालू वित्त वर्ष की आखिरी तिमाही में एक बार फिर सकारात्मक हो जाएगा यानी बढ़ने लगेगा।

शर्मा ने शनिवार को नई दिल्ली में भारत अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेले-2009 के उद्घाटन समारोह की अध्यक्षता करते हुए कहा कि वैश्विक आर्थिक संकट के दौर में जहां दुनिया की तमाम अर्थव्यवस्थाएं नीचे जा रही हैं, वहीं भारत इस समय दुनिया की दूसरी सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था है। इस मौके पर उन्होंने केंद्र द्वारा राष्ट्रीय राजधानी में एक विश्वस्तरीय कन्वेंशन सेंटर की स्थापना की भी घोषणा की।

उन्होंने कहा कि विदेश व्यापार नीति में उठाए गए कदमों और उपायों से हम निर्यात में आ रही गिरावट को बहुत हद तक थामने में सफल रहे हैं। शर्मा ने कहा, निर्यात में गिरावट एक समय 40 प्रतिशत के आसपास पहुंच गई थी, जो अब घटकर 11 प्रतिशत रह गई है।

उन्होंने कहा कि निर्यात में आ रही गिरावट के मद्देनजर हमने निर्यातकों से नए बाजार तलाशने को कहा है। इसके लिए हमने 39 नए गंतव्यों की पहचान की है।

शर्मा ने कहा कि भारत का वैश्विक व्यापार हमने 2014 तक दोगुना करने का लक्ष्य रखा है। प्रतिशत के हिसाब से वैश्विक व्यापार में भारत की भागीदारी को 2020 तक दोगुना करने का भी लक्ष्य है।

दिल्ली की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने इस मौके पर कहा कि आईआईटीएफ में दिल्ली को पहली बार भागीदार राज्य का दर्जा दिया गया है। उन्होंने कहा कि हम दिल्ली को विश्वस्तरीय शहर बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं और एक या दो दशक में दिल्ली दुनिया के सबसे बेहतरीन विश्वस्तरीय शहरों में शुमार होगा।

समारोह को संबाधित करते हुए उत्तराखंड के मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल ने वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री से उत्तराखंड के औद्योगिक पैकेज को 2020 तक बढ़ाने का आग्रह किया। पोखरियाल ने कहा कि यदि इस पैकेज को बढ़ा दिया जाता है, तो हम उत्तराखंड को माडल राज्य के रूप में विकसित करके दिखाएंगे।

भारत व्यापार संवर्धन संगठन (आईटीपीओ) के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक सुभाष चंद्र पाणि ने बताया कि इस बार मेले को ग्रीन इवेंट घोषित किया गया है और मेला स्थल को धूम्रपान निषेध स्थल घोषित किया गया है। पाणि ने बताया कि मेले के दौरान प्लास्टिक बैग के इस्तेमाल की अनुमति नहीं होगी। हालांकि, पर्यावरण अनुकूल यानी जूट, कागज आदि के बैग उचित कीमत पर उपलब्ध होंगे।

चीन को व्यापार मेले के लिए फोकस देश तथा थाइलैंड को भागीदार देश का दर्जा दिया गया है। दिल्ली भागीदार राज्य होगा, जबकि उत्तराखंड फोकस राज्य। इस बार मेले की कारोबार का थीम सेवाओं का निर्यात होगा।

पाणि ने बताया कि मेले के दौरान भारत का खाना में लोग देश के विभिन्न राज्यों के व्यंजनों का आनंद उठा सकेंगे। साथ ही दिल्ली का खाना में दिल्ली के लोकप्रिय भोजन का लुत्फ उठा सकेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आखिरी तिमाही से बढ़ेगा निर्यात : आनंद शर्मा