DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अनुशासन सफलता की सीढ़ी:डीसीपी

छात्र शिक्षा के साथ खेलकूद में भी रुचि दिखाएं। ताकि खेलकूद को बढ़ावा मिल सके। इससे छात्र भी शारिरिक रुप से फिट रहेंगें। इसका असर उनके मानसिक विकास पर पड़ेगा। यह कहना है एनआईटी के डीसीपी प्रवीन कुमार मेहता का। वह बतौर मुख्य अतिथि गुरुकुल फरीदाबाद के आठवें वार्षिकोत्सव कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।


उन्होंने कहा कि आजकल के युवाओं में नैतिकता का तेजी से पतन हो रहा है। अपने से बड़े, बुजुर्गो, गुरुजनों व माता पिता को सम्मान देने का जज्बा कम हो रहा है। खेल से खिलाड़ियों में अनुशासन पैदा होता है। इससे ही खिलाड़ी सफलता की सीढ़ियां चढ़ता है। इस दिशा में गुरूकुल महत्वपूर्ण भुमिका अदा कर रहा है। बच्चों को नैतिक शिक्षा देने के साथ ब्रह्मचर्य का पालन करना भी सिखाया जा रहा है। खेल समारोह में गुरुकुल हरियाणा की सभी शाखाओं के विद्यार्थियों व गुरूजनों ने हिस्सा लिया। गुरूकुल में शुक्रवार से शुरू हुए तीन दिवसीय वार्षिक खेल उत्सव में कुश्ती, कबड्डी, दौड़ आदि प्रतियोगिताएं आयोजित की जा रही हैं। इस अवसर पर बतौर विशिष्ट अतिथि एसडीएम फरीदाबाद मुकुल कुमार सहित कई गणमान्य लोग मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अनुशासन सफलता की सीढ़ी:डीसीपी