DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

निगम तथा पार्षद के खिलाफ किया प्रदर्शन

खूब ढिंढौरा पीटने के बाद भी शहरी इलाके में स्थित तालाबों की हालत नहीं सुधर पा रहा। बयाना गांव के लोंगों के लिए तालाब जानलेवा साबित हो रहा है। शुक्रवार दोपहर गांव के लोगों ने निगम मुख्यालय पर प्रदर्शन कर निगम के अलावा स्थानीय पार्षद के खिलाफ जमकर हाय-हाय व नारेबाजी की। प्रदर्शन के बाद नगरायुक्त को संबोधित ज्ञापन में कच्च तालाब की स्थिति सुधारने के साथ ही ओवरफ्लो की दशा में जलनिकासी के लिए पक्का नाला बनाने की मांग की गई है।


प्रदर्शन कारियों का कहना था कि निगम के साथ ही वार्ड 16 के पार्षद की अनदेखी के कारण बयाना गांव के तालाब की हालत व नाले निर्माण का मसला खटाई में पड़ा है। शुक्रवार को बयाना में सड़क किनारे पानी भरे गड्ढे में भैंसा-बुग्गी जा गिरा। बुग्गी चालक कू द कर जान बचाई जबकि भैंसे की मौत हो गई। गांव वालों का नेतृत्व कर रहे दिनेश यादव ने बताया कि एनएच.24 से गांव नायफल को जाने वाली रोड पर ही गांव बायाना के पास किनारे में गहरा गड्ढा है। सड़क निर्माण के दौरान बने गड्ढे के पास ही तालाब है जिसमें पानी ओवरफ्लो होने पर गड्ढा भी भरा रहता है। यादन समेत गांव के कई लोंगों ने आरोप लगाया कि पार्षद से कई मर्तबा कच्च तालाब से जोड़कर नाले के निर्माण की मांग की गई ताकि बरसात के मौसम में तालाब के अतिरिक्त पानी को निकाला जा सके। लेकिन पार्षद की अनदेखी से यह नाला आजतक नही बन पाया। कच्च तालाब अब जानलेवा साबित हो रहा है।
प्रदर्शन कारियों ने नारेबाजी के दौरान निगम अधिकारियों को भी कोसा। उनका कहना था कि गांव वालों की समस्या को ध्यान में रखकर तालाब की सफाई तथा पक्का किया जाए,फिर नाले का निर्माण किया जाएग। ताकि सड़क किनारे पानी न भरे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: निगम तथा पार्षद के खिलाफ किया प्रदर्शन