DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

8005 कुपात्रों की वृद्धावस्था पेंशन निरस्त

उत्तर प्रदेश के मैनपुरी जिले में जिला प्रशासन ने मृतकों के नाम पर और कुपात्र व्यक्तियों को गलत तरीके से दी जा रही वृद्धावस्था पेंशन के 8005 मामले चिन्हित करके उन्हें मिलने वाली पेंशन रोकने और गलत तरीके से दी गई पेंशन की वसूली के निर्देश दिए हैं।

जिलाधिकारी ने बताया कि जिले में वृद्धावस्था पेंशन की जांच में 8005 मामले गलत पेंशन के पाए गए हैं, जिन्हें निरस्त कर मुख्य विकास अधिकारी जेबी सिंह को कुपात्रों को दी गई पेंशन वसूली के निर्देश दिए हैं।

उन्होंने बताया कि मुख्य सचिव के निर्देश पर जिले में वृद्धावस्था पेंशन प्राप्त करने वालों की जांच में लिए 60 अधिकारियों के एक दल को नियुक्त किया गया था। इनमें से 30 अधिकारियों ने अभी तक अपनी जांच रिपोर्ट शासन के हवाले नहीं की है इसलिए इनके वेतन रोकने के आदेश दिए गए हैं।

मुख्य विकास अधिकारी जेबी सिंह ने बताया कि पेंशन के रूप में कुपात्रों को दिए गए धन की वसूली के लिए रिकवरी नोटिस जारी कर दिया गया है और उन परिस्थितियों की जांच की जा रही जिसके अन्तर्गत मृतकों के नाम पर भी वृद्धावस्था पेंशन धन लाभ जारी किया गया। इस मामले की जांच के बाद दोषी पाए गए अधिकारियों के खिलाफ भी सख्त कार्रवाई की जायेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:8005 कुपात्रों की वृद्धावस्था पेंशन निरस्त