DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फैल रहा है गन्ना किसानों का आंदोलन

सरकार द्वारा घोषित गन्ना समर्थन मूल्य के खिलाफ प्रदशर्न कर रहे किसानों का आंदोलन अब पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मध्य और पूर्वी हिस्से में फैलता नजर आ रहा है।

भारतीय किसान यूनियन के बैनर तले प्रदेश के मध्य और पूर्वी हिस्सों के कई जिलों लखीमपुर खीरी, बाराबंकी, गोंडा, फैजाबाद, फतेहपुर, कानपुर देहात, जौनपुर, सीतापुर और बहराइच में आक्रोशित गन्ना किसानों ने शुक्रवार को सड़कों पर उतरकर प्रदशर्न किया।

कई स्थानों पर किसानों ने व्यस्त राजमार्गों को जाम कर यातायात बाधित किया। इस दौरान पुलिस से उनकी हाथापाई भी हुई लेकिन ताजा समाचार मिलने तक कहीं से भी किसी अप्रिय घटना की खबर नहीं थी।

भारतीय किसान यूनियन के महासिचव राकेश टिकैत ने शुक्रवार को कहा,'' यह सही है कि हमारे आंदोलन का केंद्र अभी तक पश्चिमी उत्तर प्रदेश का क्षेत्र था। लेकिन केंद्र और राज्य सरकार की नीतियां पूरे प्रदेश के सभी गन्ना किसानों के खिलाफ हैं और इनसे किसान बुरी तरह से प्रभावित हो रहा है।''

राकेश ने कहा कि यह आंदोलन समूचे प्रदेश के गन्ना किसानों के हितों की लड़ाई है। आगामी 16 नवंबर को पूरे प्रदेश के गन्ना किसान केंद्र और राज्य सरकार की नीतियों के खिलाफ दिल्ली के जंतर-मंतर पर प्रदशर्न    करेंगे।

उल्लेखनीय है कि राज्य सरकार द्वारा गन्ने का समर्थन मूल्य 165 रुपए प्रति क्विंटल व केंद्र सरकार द्वारा उससे भी कम 129.85 रुपए प्रति क्विंटल निर्धारित करने और उचित एवं लाभकारी मूल्य व्यवस्था (एफआरपी) तय करने का किसान विरोध कर रहे हैं। गन्ना किसान प्रति क्विंटल 280 रुपए से ज्यादा के समर्थन मूल्य की मांग कर रहै हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:फैल रहा है गन्ना किसानों का आंदोलन