DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

2018 में भारत के 4 गुना होगा चीन का निर्माण बाजार

चीन का निर्माण बाजार वर्ष 2018 में अमेरिका को पीछे छोड़ देगा और भारत से चार गुना बड़ा हो जाएगा। एक ताजा रिपोर्ट में यह बात सामने आई है।

बाजार विष्लेषक संस्था 'ग्लोबल कंस्ट्रक्सन पर्सपेक्टिव्स एंड ऑक्सफोर्ड इकोनॉमिक्स' ने 'ग्लोबल कंस्ट्रक्सन रिपोर्ट-2020' नाम से एक रिपोर्ट गुरुवार को जारी की। इस रिपोर्ट में कहा गया है कि अगले 10 वर्षो में चीन का निर्माण बाजार 2.4 खरब डॉलर का हो जाएगा जो कुल वैश्विक बाजार का 19.1 प्रतिशत होगा।

लंदन में इस रिपोर्ट को जारी करने के मौके पर इस संस्था के माइक बेटम्स ने कहा कि चीन का निर्माण बाजार अभी भी बहुत बड़ा है। यह जापान के बाजार का लगभग दो गुना है। अमेरिका कुछ समय तक शीर्ष पर बना रहेगा लेकिन वर्ष 2018 में चीन का निर्माण बाजार सबसे बड़ा हो जाएगा।

इस रिपोर्ट के अनुसार मौजूदा वर्ष से 2020 तक सिर्फ नाइजीरिया और भारत के निर्माण बाजारों में ही चीन की तरह वृद्धि देखने को मिलेगी। रिपोर्ट का कहना है कि मौजूदा वैश्विक निर्माण बाजार 7.5 खरब डॉलर है जो वैश्विक सकल घरेलू उत्पाद का 13.4 प्रतिशत है। वर्ष 2020 तक दुनिया का निर्माण बाजार 12.7 खरब डॉलर का हो जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भारत के 4 गुना हो जाएगा चीन का निर्माण बाजार