DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नई दिल्ली स्टेशन के कायापलट को नगरपालिका की लाल झंडी

नई दिल्ली स्टेशन के कायापलट को नगरपालिका की लाल झंडी

नई दिल्ली स्टेशन को विश्व स्तरीय बनाने की रेल मंत्रालय की महत्वकांक्षी योजना की गाड़ी आगे बढने से पहले ही नगर निकायों ने उसके आगे अपनी लाल झंडी लहरा दी है। दिल्ली के स्थानीय निकायों और अन्य एजेंसियों की आपत्तियों के कारण स्टेशन के पुनर्विकास ठेका देने की दूसरी निविदा प्रक्रिया भी बिखर गयी है।

रेल मंत्रालय के जानकार सूत्रों ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा, स्थानीय निकाय अधिकारियों से मंजूरी नहीं मिलने के कारण कंपनियों से पात्रता के लिए अनुरोध पत्र (आरएफक्यू) आमंत्रित करने की निविदाएं रद्द कर दी गयी हैं। सूत्रों ने बताया कि आरएफक्यू के लिए निविदाएं आमंत्रित की गयी थीं।

एनडीएमसी, एमसीडी, डीडीए तथा दिल्ली परिवहन पुलिस ने ट्रेफिक, पार्किंग व सीवरेज संबंधी दिक्कतों का हवाला देते हुए इस परियोजना पर आपत्ति जताई थी। उल्लेखनीय है कि नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर विश्व स्तरीय सुविधाएं जुटाने के लिए इसके 86 हेक्टेयर से अधिक के क्षेत्र को विकसित किया जाना है। निजी-सरकारी भागीदारी वाली योजना पर 9,000 करोड़ रुपए खर्च होने का अनुमान है।

इसमें शापिंग कांपलेक्स से लेकर प्रवेश तथा निकासी के लिए अलग-अलग व्यवस्था सहित अनेक सुविधाएं होंगी। सूत्रों ने कहा कि अन्य स्टेशनों को विश्व स्तरीय बनाने की योजना पर काम जारी रहेगा।

अमित मित्रा की अध्यक्षता वाली एक विशेषज्ञ समिति ने हाल ही में सुझाव दिया था कि स्टेशन को विश्वस्तरीय बनाने के लिए जगह का अधिकतम उपयोग किया जाए। अब यह देखा जाना है कि रेलवे इस प्रस्ताव को स्वीकार करते हुए छोटे स्तर पर स्टेशन के विकास का काम शुरू करती है या नहीं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नई दिल्ली स्टेशन के कायापलट को नगरपालिका की लाल झंडी