DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दुल्हने कायनाते खुदा हो रही है.

दुल्हन-ए-कायनाते खुदा हो रही है, जरूर आमदे मुस्तफा हो रही है। इधर से खता पर खता हो रही है, उधर से मगफिरते दुआ हो रही है। जुलूस में शामिल लोग हारत मोहम्मद साहब की शान में कुछ ऐसा ही कलाम पेश कर रहे थे। मंगलवार को पैगम्बर मोहम्मद (स.) के जन्मदिन पर रांची और आसपास जुलूस-ए-मोहम्मदी निकाला गया। जुलूस में लोग नार रसालात या रसूलल्लाह का नारा लगा रहे थे। सुबह नौ बजे सुन्नी बरलवी सेंट्रल कमेटी के तत्वावधान में उलेमा-ए-अहले सुन्नत के नेतृत्व में जुलूस-ए-मोहम्मदी अपने-अपने क्षेत्र से निकलकर दस बजे थड़पखना मसजिद के पास इकट्ठा हुआ। वहां सामूहिक रूप से दुआ सलाम के बाद जुलूस पुरूलिया रोड होते हुए पत्थल कुदवा चौक से कर्बला चौक गया। कई उलेमाओं ने वहां मोहम्मद साहब के जीवन पर अपनी तकरीर की। हिंदपीढ़ी और डोरंडा आदि के जुलूस को साथ लेकर अपने निर्धारित मार्ग से रिसालदार बाबा के मजार गया। फातिहा और सलाम के बाद जुलूस का समापन हुआ। जुलूस का संचालन में मो सईद, अकीलुर्रहमान, कारी रिावानुल होदा, मुफ्ती बिराीसुल कादरी, मौलाना कुतुबुद्दीन रिावी, कारी अय्यूब, मुफ्ती निजामुद्दीन, गुल मोहम्मद गद्दी समेत अन्य लोगों ने किया।ड्ढr ट्रस्ट ने बांटे पुरस्कारड्ढr पैगम्बर मोहम्मद साहब के जन्म दिन के अवसर पर इमाम अहमद राा एजुकेशनल वेलफेयर ट्रस्ट की ओर से पुरस्कार का वितरण किया गया। दो ग्रूप में पुरस्कार का वितरण किया गया। ग्रूप ए में दावते इसलामी के प्रथम पुरस्कार से नवाजा गया। वहीं मदरसा फैाान-ए-मुस्तफा के द्वितीय व मदरसा इसलामिया नूरिया के तृतीय पुरस्कार से नवाजा गया। ग्रूप बी में मजजिद-ए गौसुलवरा हिंदपीढ़ी को प्रथम पुरस्कार मिला। मसजिद-ए-राा गुदड़ी को द्वितीय व फैाान-ए-मदीना कमेटी को तृतीय पुरस्कार दिया गया।ड्ढr फल का वितरणड्ढr रांची। एदारा-ए-शरिया और मसजिदे असरा कमेटी की ओर मरीाों के बीच फल, हॉरलिक्स का वितरण किया गया। मो सईद के नेतृत्व में एदार-ए- शरिया की टीम ने झारखंड अस्पताल, अंजुमन अस्पताल, झारखंड तंजीम अस्पताल, कैपिटोल नर्सिग अस्पताल में मरीाों के बीच फल आदि का वितरण किया। इस मौके पर मुन्ना भाई, परवेज, साबिर, अब्दुल रहमान, सईद कुरैशी और मुह्म्मद अली शामिल थे।ड्ढr जुलूस का स्वागत : भारतीय एकता कमेटी ने सीरतुन नबी के जुलूस का स्वागत किया। कमेटी के अध्यक्ष गुलाम मुस्तफा ने जुलूस में शामिल पदाधिकारियों का स्वागत किया। मौके पर गरीब और असहाय बच्चों के बीच मिटाइयां भी बांटी गयी।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: दुल्हने कायनाते खुदा हो रही है.