DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गंगा बनाना के नाम से खांईं अब हाजीपुरी केला

उद्योग मंडल एसोचैम की अध्यक्ष स्वाती पिरामल ने शुक्रवार को कहा कि देश में गंगा मइया के प्रति लोगों की श्रद्धा को देखते हुए बिहार में गंगा के किनारे फलने वाले केले की मार्केटिंग गंगा बनाना के तौर पर देश-विदेश में की जा सकती है।

एसोचैम द्वारा आयोजित इनवेस्ट मार्ट बिहार-2009 में भाग लेने पटना आयीं पिरामल ने केले की खेती के लिए मशहूर हाजीपुर के गंगा के किनारे का शुक्रवार को दौरा किया। उन्होंने कहा कि बिना किसी उर्वरक का इस्तेमाल किए जैविक खाद के जरिए गंगा बेसिन इलाके में जिस प्रकार से केले को उपजाया जा रहा है उससे इसकी महत्ता बढ़ जाती है।

उन्होंने कहा कि केला सहित बिहार के गंगा किनारे उपजने वाले अन्य फल और सब्जियों की अगर ठीक ढंग से मार्केटिग की जाए तो पूरे देश को जैविक खाद से तैयार स्वास्थ्यप्रद खाने की वस्तुएं बिहार से मिल सकती हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गंगा बनाना के नाम से खांईं अब हाजीपुरी केला