DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दून के पौधों से सजेंगे खेल मैदान

अक्टूबर 2010 में राजधानी दिल्ली में हो रहे कॉमनवैल्थ खेलों के मैदानों को हरियाली से सजाने का जिम्मा देहरादून स्थित एफआरआई का होगा। एफआरआई की सेन्ट्रल नर्सरी में इसके लिए एक साल से पौधे तैयार करने का काम किया जा रहा है। पौधे दिसंबर में दिल्ली भेजे जाएंगे।

कॉमन वैल्थ खेलों के लिए एफआरआई में विभिन्न प्रजातियों के साढ़े तीन लाख पौधे तैयार हो रहे हैं। इनमें रंगीन व खूशबूदार पत्तियों वाले पौधों की बहुतायत है। साथ ही मोरपंखी की सदा हरी रहने वाली प्रजातियों जूनिपर व ओकरिया को भी तैयार किया जा रहा है। बांस प्रजाति की सात प्रजातियों के साथ रुद्राक्ष, जिन्को वाइलीविया, फैजलपिया, यूफोरिया व पाम प्रजाति के पौधों को नर्सरी में शामिल किया गया है।

कॉमनवेल्थ खेल खत्म होने के बाद इन पौधों को एनडीएमसी के अधीन आने वाले दिल्ली के पार्को में शिफ्ट कर दिया जाएगा। दिल्ली सरकार के साथ हुए एफआरआई के करार के तहत संस्थान को प्रति पौधा तैयार करने की एवज में 35 रुपये का भुगतान होगा। पौधे दिल्ली स्थित बार्केन सोसाइटी को सौंपे जाएंगे जो इन्हें विभिन्न खेल मैदानों में करीने से रोपने का काम करेगी।

एफआरआई विस्तार प्रभाग के हेड व नर्सरी की मॉनिटरिंग का काम देख रहे वरिष्ठ वैज्ञानिक डा. वीआरआर सिंह ने बताया वानिकी के क्षेत्र में लंबा अनुभव होने के कारण एफआरआई को कॉमनवेल्थ के मैदानों में हरियाली करने के लिए चुना गया है।  अंतर्राष्ट्रीय घटना में अपने अनुभव को प्रदर्शित करते हुए संस्थान को गर्व की अनुभूति हो रही है। उन्होंने बताया गमलों में रोपे जाने के बाद पौधे खेल प्रारंभ होते समय औसत दो से ढाई फुट के दिखेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दून के पौधों से सजेंगे खेल मैदान