DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिवाकर मिंज ने भी भाजपा छोड़ी

भाजपा के वरिष्ठ नेता दिवाकर मिंज ने पार्टी छोड़ दी है। वह रविवार को पटना में राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद, जय प्रकाश नारायण यादव और अन्य नेताओं के समक्ष राजद की सदस्यता ग्रहण की। राजद ने मिंज को मांडर से उम्मीदवार बनाया है।

राजद में शामिल होने के बाद मिंज ने कहा-सीधी सी बात बात यह है कि उन्हें लगने लगा था कि भाजपा वाले उन्हें नापसंद करते हैं। 2000 में भाजपा से टिकट मिला, पर अंत में उन्हें हराने का काम किया गया। 2005 में भी यही दोहराया गया। पार्टी के लोगों ने मिल कर हराने का काम किया और ठीकरा भी उनके माथे फोड़ा गया। इस स्थिति में जहां आदमी को मान-सम्मान मिलेगा, वहां जाएगा ही।

इससे पूर्व गोमिया से टिकट नहीं मिलने पर छत्रुराम महतो और कांके से टिकट नहीं मिलने पर जेपीएससी की निवर्तमान सदस्य शांति देवी भी भाजपा छोड़ चुकी है। शांति देवी पर निगरानी की जांच भी चल रही है। जिसमें उन पर अपने रिश्तेदारों और नजदीकियों का जेपीएससी की परीक्षा में सफलता दिलाने का आरोप है। उसमें सुदेश के भाई भी शामिल हैं।

जानकारों का कहना है कि आजसू की टिकट पर कांके से चुनाव लड़ रही शांति देवी का सुदेश महतो से उसी समय से संबंध रहा है। जेपीएससी के सदस्य पद से हटने के बाद वह पिछले एक महीने से कांके से भाजपा का टिकट चाह रही थी। लेकिन विवादित होने के कारण भाजपा ने उन्हें कांके से टिकट काट दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दिवाकर मिंज ने भी भाजपा छोड़ी