DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गेहूं के समर्थन मूल्य में मामूली वृद्धि से किसान नाराज

गेहूं के समर्थन मूल्य में हुई वृद्धि को किसानों ने ऊंट के मुंह में जीरा बताया। इस वृद्धि को लेकर किसानों में रोष बना हुआ है। राष्ट्रीय किसान संगठन के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष गुरचरण सिंह थिंड ने वीरवार को यहां कहा कि चीनी तो दोगुनी कीमत पर मिल रही है मगर किसान की गेहूं की कीमत महज 20 रुपये क्विंटल ही बढ़ाई गई। उन्होंने कहा कि ऐसा लगता है कि केंद्र सरकार को किसानों से कुछ लेना देना नहीं है।

थिंड ने आरोप लगाया कि दालों और चीनी की बढ़ती कीमतों पर लगाम लगाने में सरकार पूरी तरह से नाकामयाब रही है। उन्होंने कहा कि इसके साथ ही किसानों को उनकी फसलों का उचित दाम भी वह नहीं दिला पा रही है। थिंड ने कहा कि सरकार ने गेंहू की जिन किस्मों पर सब्सिडी देने का ऐलान किया उन में पीबी डब्ल्यू 343,पीबीडब्ल्यू 5क्2,711 आदि हैं जिनको किसान अधिक बीमारी वाली किस्म होने की वजह से त्याग चुके हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गेहूं के समर्थन मूल्य में मामूली वृद्धि से किसान नाराज