DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

झप्पी मिले या झटका, सरकार करेगी फैसला

लोकसभा चुनाव के दौरान सपा प्रत्याशी कुँवर अक्षय प्रताप सिंह ‘गोपाल’ के सर्मथन में चुनावी सभा करने आए अभिनेता से राजनेता बने संजय दत्त की प्रदेश की मुखिया के लिए ‘जादू की झप्पी’ देने की पेशकश पर नगर कोतवाली में दर्ज रिपोर्ट पर फैसला का मामला शासन के पास पहुँच गया है। मामले में चाजर्शीट दाखिल करने से पहले पुलिस अधीक्षक ने शासन के कानूनविदों से सलाह माँगी है। वहाँ से राय आने के बाद ही पुलिस आगे की कार्रवाई करेगी।

गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव के दौरान संजय दत्त ने अपनी चुनावी सभा में मुख्यमंत्री मायावती को ‘जादू की झप्पी’ देने जैसी बात कही थी। प्रशासन ने संजय दत्त की इस टिप्पणी को गंभीरता से लिया था। शहर के लेखपाल ने पुलिस को तहरीर देकर आरोप लगाया कि संजय दत्त ने मुख्यमंत्री के खिलाफ अश्लील टिप्पणी की है। तहरीर पर नगर कोतवाली में संजय दत्त के खिलाफ अश्लील टिप्पणी की रिपोर्ट दर्ज की गई थी। इसके बाद की कार्रवाई के बारे में पुलिस को कुछ नहीं सुझ रहा था।

पुलिस सूत्रों की मानें तो हिन्दी फीचर फिल्म ‘मुन्ना भाई एमबीबीएस’ में अभिनेता संजय दत्त का डायलाग ‘जादू की झप्पी’ खूब चर्चित हुआ था। फिल्म में यह डायलाग अभिनेता ने कैंसर पीड़ित व्यक्ति के चेहरे पर मुस्कान लाने के लिए बोला था। सेंसर बोर्ड ने इस फिल्म को पास भी किया और यह खूब हिट भी हुई थी। इस लिहाज से यह डायलाग अश्लील टिप्पणी की श्रेणी में नहीं आता है।

डायलाग अगर अश्लील होता तो सेंसर बोर्ड के खिलाफ भी कार्रवाई होनी चाहिए कि उसने इसे क्यों पास किया? इसे लेकर पुलिस मामले में कुछ नहीं कर पा रही थी। मामले में न तो चाजर्शीट दाखिल की गई और न ही फाइनल रिपोर्ट लगाई गई। इस हाई प्रोफाइल मामले में आगे की कार्रवाई करने के लिए पुलिस ने शासन के कानूनविदों से राय माँगी है। खबर है कि राय आने के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।

‘संजयदत्त के खिलाफ आगे की कार्रवाई करने के लिए शासन से कानूनी राय माँगी गई है। सेंसर बोर्ड से भी डायलाग पास होने का मामला सही है। इसलिए शासन की राय आने के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।’
मोहित अग्रवाल पुलिस अधीक्षक 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:झप्पी मिले या झटका, सरकार करेगी फैसला